Skip to main content

युनुस आयत २८ | Yunus 10:28

And (the) Day
وَيَوْمَ
और जिस दिन
We will gather them
نَحْشُرُهُمْ
हम इकट्ठा करेंगे उनको
all together
جَمِيعًا
सबके सबको
then
ثُمَّ
फिर
We will say
نَقُولُ
हम कहेंगे
to those who
لِلَّذِينَ
उनको जिन्होंने
associate partners (with Allah)
أَشْرَكُوا۟
शिर्क किया
"(Remain in) your place
مَكَانَكُمْ
अपनी जगह (ठहरो)
you
أَنتُمْ
तुम
and your partners"
وَشُرَكَآؤُكُمْۚ
और शरीक तुम्हारे
Then We will separate
فَزَيَّلْنَا
तो जुदाई डाल देंगे हम
[between] them
بَيْنَهُمْۖ
दर्मियान उनके
and (will) say
وَقَالَ
और कहेंगे
their partners
شُرَكَآؤُهُم
शरीक उनके
"Not
مَّا
ना
you used (to)
كُنتُمْ
थे तुम
worship us"
إِيَّانَا
सिर्फ़ हमारी ही
worship us"
تَعْبُدُونَ
तुम इबादत करते

Wayawma nahshuruhum jamee'an thumma naqoolu lillatheena ashrakoo makanakum antum washurakaokum fazayyalna baynahum waqala shurakaohum ma kuntum iyyana ta'budoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और जिस दिन हम उन सबको इकट्ठा करेंगे, फिर उन लोगों से, जिन्होंने शिर्क किया होगा, कहेंगे, 'अपनी जगह ठहरे रहो तुम भी और तुम्हारे साझीदार भी।' फिर हम उनके बीच अलगाव पैदा कर देंगे, और उनके ठहराए हुए साझीदार कहेंगे, 'तुम हमारी तो हमारी बन्दगी नहीं करते थे

English Sahih:

And [mention, O Muhammad], the Day We will gather them all together – then We will say to those who associated others with Allah, "[Remain in] your place, you and your 'partners.'" Then We will separate them, and their "partners" will say, "You did not used to worship us,

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल उस दिन से डराओ) जिस दिन सब को इकट्ठा करेगें-फिर मुशरेकीन से कहेंगें कि तुम और तुम्हारे (बनाए हुए ख़ुदा के) शरीक ज़रा अपनी जगह ठहरो फिर हम वाहम उनमें फूट डाल देगें और उनके शरीक उनसे कहेंगे कि तुम तो हमारी परसतिश करते न थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

जिस दिन, हम उनसब को एकत्र करेंगे, फिर उनसे कहेंगे, जिन्होंने साझी बनाया है कि अपने स्थान पर रुके रहो और तुम्हारे (बनाये हुए) साझी भी। फिर हम उनके बीच अलगाव कर देंगे और उनके साझी कहेंगेः तुमतो हमारी वंदना ही नहीं करते थे।