Skip to main content
bismillah
الٓرۚ
अलिफ़ लाम रा
تِلْكَ
ये
ءَايَٰتُ
आयात हैं
ٱلْكِتَٰبِ
किताब
ٱلْحَكِيمِ
हिकमत वाली की

Aliflamra tilka ayatu alkitabi alhakeemi

अलिफ़॰ लाम॰ रा॰। ये तत्वदर्शितायुक्त किताब की आयतें हैं

Tafseer (तफ़सीर )
أَكَانَ
क्या है
لِلنَّاسِ
लोगों के लिए
عَجَبًا
अजीब बात
أَنْ
कि
أَوْحَيْنَآ
वही की हमने
إِلَىٰ
तरफ़ एक शख़्स के
رَجُلٍ
तरफ़ एक शख़्स के
مِّنْهُمْ
उनमें से
أَنْ
कि
أَنذِرِ
डराइए
ٱلنَّاسَ
लोगों को
وَبَشِّرِ
और ख़ुश ख़बरी दे दीजिए
ٱلَّذِينَ
उन्हें जो
ءَامَنُوٓا۟
ईमान लाए
أَنَّ
कि बेशक
لَهُمْ
उनके लिए
قَدَمَ
मर्तबा है
صِدْقٍ
सच्चा
عِندَ
पास
رَبِّهِمْۗ
उनके रब के
قَالَ
कहा
ٱلْكَٰفِرُونَ
काफ़िरों ने
إِنَّ
बेशक
هَٰذَا
ये
لَسَٰحِرٌ
अलबत्ता जादूगर है
مُّبِينٌ
खुल्लम-खुल्ला

Akana lilnnasi 'ajaban an awhayna ila rajulin minhum an anthiri alnnasa wabashshiri allatheena amanoo anna lahum qadama sidqin 'inda rabbihim qala alkafiroona inna hatha lasahirun mubeenun

क्या लोगों को इस बात पर आश्चर्य हो रहा है कि हमने उन्ही में से एक आदमी की ओर प्रकाशना की कि लोगों को सचेत कर दो और जो लोग मान लें, उनको शुभ समाचार दे दो कि उनके लिए रब के पास शाश्वत सच्चा उन्नत स्थान है? इनकार करनेवाले कहने लगे, 'निस्संदेह यह एक खुला जादूगर है।'

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
رَبَّكُمُ
रब तुम्हारा
ٱللَّهُ
अल्लाह है
ٱلَّذِى
जिसने
خَلَقَ
पैदा किया
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
وَٱلْأَرْضَ
और ज़मीन को
فِى
छःदिनों में
سِتَّةِ
छःदिनों में
أَيَّامٍ
छःदिनों में
ثُمَّ
फिर
ٱسْتَوَىٰ
वो बुलन्द हुआ
عَلَى
अर्श पर
ٱلْعَرْشِۖ
अर्श पर
يُدَبِّرُ
वो तदबीर करता है
ٱلْأَمْرَۖ
तमाम मामलात की
مَا
नहीं
مِن
कोई सिफ़ारिशी
شَفِيعٍ
कोई सिफ़ारिशी
إِلَّا
मगर
مِنۢ
बाद
بَعْدِ
बाद
إِذْنِهِۦۚ
उसके इज़्न के
ذَٰلِكُمُ
यही है
ٱللَّهُ
अल्लाह
رَبُّكُمْ
रब तुम्हारा
فَٱعْبُدُوهُۚ
पस इबादत करो इसकी
أَفَلَا
क्या भला नहीं
تَذَكَّرُونَ
तुम नसीहत पकड़ते

Inna rabbakumu Allahu allathee khalaqa alssamawati waalarda fee sittati ayyamin thumma istawa 'ala al'arshi yudabbiru alamra ma min shafee'in illa min ba'di ithnihi thalikumu Allahu rabbukum fao'budoohu afala tathakkaroona

निस्संदेह तुम्हारा रब वही अल्लाह है, जिसने आकाशों और धरती को छः दिनों में पैदा किया, फिर सिंहासन पर विराजमान होकर व्यवस्था चला रहा है। उसकी अनुज्ञा के बिना कोई सिफ़ारिश करनेवाला भी नहीं है। वह अल्लाह है तुम्हारा रब। अतः उसी की बन्दगी करो। तो क्या तुम ध्यान न दोगे?

Tafseer (तफ़सीर )
إِلَيْهِ
तरफ़ उसी के
مَرْجِعُكُمْ
लौटना है तुम्हारा
جَمِيعًاۖ
सबके सबका
وَعْدَ
वादा है
ٱللَّهِ
अल्लाह का
حَقًّاۚ
सच्चा
إِنَّهُۥ
बेशक वो
يَبْدَؤُا۟
वो इब्तिदा करता है
ٱلْخَلْقَ
पैदाइश की
ثُمَّ
फिर
يُعِيدُهُۥ
वो दोबारा लौटाएगा उसे
لِيَجْزِىَ
ताकि वो बदला दे
ٱلَّذِينَ
उन्हें जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेक
بِٱلْقِسْطِۚ
साथ इन्साफ़ के
وَٱلَّذِينَ
और वो जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
لَهُمْ
उनके लिए
شَرَابٌ
पीना है
مِّنْ
सख़्त गर्म पानी की
حَمِيمٍ
सख़्त गर्म पानी की
وَعَذَابٌ
और अज़ाब है
أَلِيمٌۢ
दर्दनाक
بِمَا
बवजह उसके जो
كَانُوا۟
थे वो
يَكْفُرُونَ
वो कुफ़्र करते

Ilayhi marji'ukum jamee'an wa'da Allahi haqqan innahu yabdao alkhalqa thumma yu'eeduhu liyajziya allatheena amanoo wa'amiloo alssalihati bialqisti waallatheena kafaroo lahum sharabun min hameemin wa'athabun aleemun bima kanoo yakfuroona

उसी की ओर तुम सबको लौटना है। यह अल्लाह का पक्का वादा है। निस्संदेह वही पहली बार पैदा करता है। फिर दोबारा पैदा करेगा, ताकि जो लोग ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए उन्हें न्यायपूर्वक बदला दे। रहे वे लोग जिन्होंने इनकार किया उनके लिए खौलता पेय और दुखद यातना है, उस इनकार के बदले में जो वे करते रहे

Tafseer (तफ़सीर )
هُوَ
वो ही है
ٱلَّذِى
जिसने
جَعَلَ
बनाया
ٱلشَّمْسَ
सूरज को
ضِيَآءً
रोशन
وَٱلْقَمَرَ
और चाँद को
نُورًا
मुनव्वर
وَقَدَّرَهُۥ
और उसने मुक़र्रर कीं उसकी
مَنَازِلَ
मन्ज़िलें
لِتَعْلَمُوا۟
ताकि तुम जान लो
عَدَدَ
गिनती
ٱلسِّنِينَ
सालों की
وَٱلْحِسَابَۚ
और हिसाब
مَا
नहीं
خَلَقَ
पैदा किया
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
ذَٰلِكَ
ये (सब)
إِلَّا
मगर
بِٱلْحَقِّۚ
साथ हक़ के
يُفَصِّلُ
वो खोलकर बयान करता है
ٱلْءَايَٰتِ
आयात को
لِقَوْمٍ
उन लोगों के लिए
يَعْلَمُونَ
जो इल्म रखते हैं

Huwa allathee ja'ala alshshamsa diyaan waalqamara nooran waqaddarahu manazila lita'lamoo 'adada alssineena waalhisaba ma khalaqa Allahu thalika illa bialhaqqi yufassilu alayati liqawmin ya'lamoona

वही है जिसने सूर्य को सर्वथा दीप्ति और चन्द्रमा का प्रकाश बनाया औऱ उनके लिए मंज़िलें निश्चित की, ताकि तुम वर्षों की गिनती और हिसाब मालूम कर लिया करो। अल्लाह ने यह सब कुछ सोद्देश्य ही पैदा किया है। वह अपनी निशानियों को उन लोगों के लिए खोल-खोलकर बयान करता है, जो जानना चाहें

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
فِى
इख़्तिलाफ़ में
ٱخْتِلَٰفِ
इख़्तिलाफ़ में
ٱلَّيْلِ
रात
وَٱلنَّهَارِ
और दिन के
وَمَا
और जो
خَلَقَ
पैदा किया
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
فِى
आसमानों में
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों में
وَٱلْأَرْضِ
और ज़मीन में
لَءَايَٰتٍ
अलबत्ता निशानियाँ हैं
لِّقَوْمٍ
उन लोगों के लिए
يَتَّقُونَ
जो डरते हैं

Inna fee ikhtilafi allayli waalnnahari wama khalaqa Allahu fee alssamawati waalardi laayatin liqawmin yattaqoona

निस्संदेह रात और दिन के उलट-फेर में और जो कुछ अल्लाह ने आकाशों और धरती में पैदा किया उसमें डर रखनेवाले लोगों के लिए निशानियाँ है

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
ٱلَّذِينَ
वो लोग जो
لَا
नहीं वो उम्मीद रखते
يَرْجُونَ
नहीं वो उम्मीद रखते
لِقَآءَنَا
हमारी मुलाक़ात की
وَرَضُوا۟
और वो राज़ी हो गए
بِٱلْحَيَوٰةِ
ज़िन्दगी पर
ٱلدُّنْيَا
दुनिया की
وَٱطْمَأَنُّوا۟
और वो मुत्मइन हो गए
بِهَا
उस पर
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
هُمْ
वो
عَنْ
हमारी आयात से
ءَايَٰتِنَا
हमारी आयात से
غَٰفِلُونَ
ग़ाफ़िल हैं

Inna allatheena la yarjoona liqaana waradoo bialhayati alddunya waitmaannoo biha waallatheena hum 'an ayatina ghafiloona

रहे वे लोग जो हमसे मिलने की आशा नहीं रखते और सांसारिक जीवन ही पर निहाल हो गए है और उसी पर संतुष्ट हो बैठे, और जो हमारी निशानियों की ओर से असावधान है;

Tafseer (तफ़सीर )
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
مَأْوَىٰهُمُ
ठिकाना उनका
ٱلنَّارُ
आग है
بِمَا
बवजह इसके जो
كَانُوا۟
थे वो
يَكْسِبُونَ
वो कमाई करते

Olaika mawahumu alnnaru bima kanoo yaksiboona

ऐसे लोगों का ठिकाना आग है, उसके बदले में जो वे कमाते रहे

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
ٱلَّذِينَ
वो लोग जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेक
يَهْدِيهِمْ
रहनुमाई करेगा उनकी
رَبُّهُم
रब उनका
بِإِيمَٰنِهِمْۖ
बवजह उनके ईमान के
تَجْرِى
बहती हैं
مِن
उनके नीचे से
تَحْتِهِمُ
उनके नीचे से
ٱلْأَنْهَٰرُ
नहरें
فِى
बाग़ात में
جَنَّٰتِ
बाग़ात में
ٱلنَّعِيمِ
नेअमतों वाले

Inna allatheena amanoo wa'amiloo alssalihati yahdeehim rabbuhum bieemanihim tajree min tahtihimu alanharu fee jannati alnna'eemi

रहे वे लोग जो ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए, उनका रब उनके ईमान के कारण उनका मार्गदर्शन करेगा। उनके नेमत भरी जन्नतों में नहरें बह रही होगी

Tafseer (तफ़सीर )
دَعْوَىٰهُمْ
उनकी दुआ (होगी)
فِيهَا
उसमें
سُبْحَٰنَكَ
पाक है तू
ٱللَّهُمَّ
ऐ अल्लाह
وَتَحِيَّتُهُمْ
और दुआ उनकी
فِيهَا
उसमें
سَلَٰمٌۚ
सलाम (होगा)
وَءَاخِرُ
और आख़िरी
دَعْوَىٰهُمْ
पुकार उनकी (होगी)
أَنِ
ये कि
ٱلْحَمْدُ
सब तारीफ़
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए है
رَبِّ
जो रब है
ٱلْعَٰلَمِينَ
तमाम जहानों का

Da'wahum feeha subhanaka allahumma watahiyyatuhum feeha salamun waakhiru da'wahum ani alhamdu lillahi rabbi al'alameena

वहाँ उनकी पुकार यह होगी कि 'महिमा है तेरी, ऐ अल्लाह!' और उनका पारस्परिक अभिवादन 'सलाम' होगा। और उनकी पुकार का अन्त इसपर होगा कि 'प्रशंसा अल्लाह ही के लिए है जो सारे संसार का रब है।'

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
युनुस
القرآن الكريم:يونس
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Yunus
सूरा:10
कुल आयत:109
कुल शब्द:1832
कुल वर्ण:9990
रुकु:11
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:51
से शुरू आयत:1364