Skip to main content

अर र’आद आयत १८ | Ar Ar-Ra’d 13:18

For those who
لِلَّذِينَ
उन लोगों के लिए जिन्होंने
responded
ٱسْتَجَابُوا۟
क़ुबूल किया (हुक्म)
to their Lord
لِرَبِّهِمُ
अपने रब का
(is) the bliss
ٱلْحُسْنَىٰۚ
भलाई है
And for those who
وَٱلَّذِينَ
और जिन लोगों ने
(did) not
لَمْ
नहीं
respond
يَسْتَجِيبُوا۟
कुबूल किया
to Him
لَهُۥ
उसे
if
لَوْ
काश
that
أَنَّ
कि (होता)
they had
لَهُم
उनके लिए
whatever
مَّا
जो कुछ
(is) in
فِى
ज़मीन में है
the earth
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में है
all
جَمِيعًا
सबका सब
and like of it
وَمِثْلَهُۥ
और इसकी मानिन्द
with it
مَعَهُۥ
साथ इसके
surely they would offer ransom
لَٱفْتَدَوْا۟
अलबत्ता वो फ़िदये में दे देते
with it
بِهِۦٓۚ
उसको
Those
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
for them
لَهُمْ
उनके लिए है
(is) a terrible
سُوٓءُ
बुरा
reckoning
ٱلْحِسَابِ
हिसाब
and their abode
وَمَأْوَىٰهُمْ
और ठिकाना उनका
(is) Hell
جَهَنَّمُۖ
जहन्नम है
and wretched
وَبِئْسَ
और वो बहुत ही बुरा
(is) the resting place
ٱلْمِهَادُ
ठिकाना है

Lillatheena istajaboo lirabbihimu alhusna waallatheena lam yastajeeboo lahu law anna lahum ma fee alardi jamee'an wamithlahu ma'ahu laiftadaw bihi olaika lahum sooo alhisabi wamawahum jahannamu wabisa almihadu

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

जिन लोगों ने अपने रब का आमंत्रण स्वीकार कर लिया, उनके लिए अच्छा पुरस्कार है। रहे वे लोग जिन्होंने उसे स्वीकार नहीं किया यदि उनके पास वह सब कुछ हो जो धरती में हैं, बल्कि उसके साथ उतना और भी हो तो अपनी मुक्ति के लिए वे सब दे डालें। वही हैं, जिनका बुरा हिसाब होगा। उनका ठिकाना जहन्नम है और वह अत्यन्त बुरा विश्राम-स्थल है

English Sahih:

For those who have responded to their Lord is the best [reward], but those who did not respond to Him – if they had all that is in the earth entirely and the like of it with it, they would [attempt to] ransom themselves thereby. Those will have the worst account, and their refuge is Hell, and wretched is the resting place.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

जिन लोगों ने अपने परवरदिगार का कहना माना उनके लिए बहुत बेहतरी है और जिन लोगों ने उसका कहा न माना (क़यामत में उनकी ये हालत होगी) कि अगर उन्हें रुए ज़मीन के सब ख़ज़ाने बल्कि उसके साथ इतना और मिल जाए तो ये लोग अपनी नजात के बदले उसको (ये खुशी) दे डालें (मगर फिर भी कोई फायदा नहीं) यही लोग हैं जिनसे बुरी तरह हिसाब लिया जाएगा और आख़िर उन का ठिकाना जहन्नुम है और वह क्या बुरी जगह है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

जिन लोगों ने अपने पालनहार की बात मान ली, उन्हीं के लिए भलाई है और जिन्होंने नहीं मानी, यदि जो कुछ धरती में है, सब उनका हो जाये और उसके साथ उसके समान और भी, तो वे उसे (अल्लाह के दण्ड से बचने के लिए) अर्थदण्ड के रूप में दे देंगे। उन्हीं से कड़ा ह़िसाब लिया जायेगा तथा उनका स्थान नरक है और वह बुरा रहने का स्थान है।