Skip to main content

अल कहफ़ आयत १७ | Al-Kahf 18:17

And you (might) have seen
وَتَرَى
और आप देखते
the sun
ٱلشَّمْسَ
सूरज को
when
إِذَا
जब
it rose
طَلَعَت
वो तुलूअ होता
inclining away
تَّزَٰوَرُ
वो किनारा कर जाता
from
عَن
उनके ग़ार से
their cave
كَهْفِهِمْ
उनके ग़ार से
to
ذَاتَ
दाऐं जानिब
the right
ٱلْيَمِينِ
दाऐं जानिब
and when
وَإِذَا
और जब
it set
غَرَبَت
वो ग़ुरूब होता
passing away from them
تَّقْرِضُهُمْ
वो कतरा जाता उनसे
to
ذَاتَ
बाऐं जानिब
the left
ٱلشِّمَالِ
बाऐं जानिब
while they
وَهُمْ
और वो
(lay) in
فِى
एक खुली जगह में थे
the open space
فَجْوَةٍ
एक खुली जगह में थे
thereof
مِّنْهُۚ
उस (ग़ार) की
That
ذَٰلِكَ
ये
(was) from
مِنْ
निशानियों में से है
(the) Signs
ءَايَٰتِ
निशानियों में से है
(of) Allah
ٱللَّهِۗ
अल्लाह की
Whoever
مَن
जिसे
Allah guides
يَهْدِ
हिदायत दे
Allah guides
ٱللَّهُ
अल्लाह
and he
فَهُوَ
तो वो ही
(is) the guided one
ٱلْمُهْتَدِۖ
हिदायत पाने वाला है
and whoever
وَمَن
और जिसे
He lets go astray
يُضْلِلْ
वो भटका दे
then never
فَلَن
तो हरगिज़ नहीं
you will find
تَجِدَ
आप पाऐंगे
for him
لَهُۥ
उसके लिए
a protector
وَلِيًّا
कोई दोस्त
a guide
مُّرْشِدًا
रहनुमाई करने वाला

Watara alshshamsa itha tala'at tazawaru 'an kahfihim thata alyameeni waitha gharabat taqriduhum thata alshshimali wahum fee fajwatin minhu thalika min ayati Allahi man yahdi Allahu fahuwa almuhtadi waman yudlil falan tajida lahu waliyyan murshidan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और तुम सूर्य को उसके उदित होते समय देखते तो दिखाई देता कि वह उनकी गुफा से दाहिनी ओर को बचकर निकल जाता है और जब अस्त होता है तो उनकी बाई ओर से कतराकर निकल जाता है। और वे है कि उस (गुफा) के एक विस्तृत स्थान में हैं। यह अल्लाह की निशानियों में से है। जिसे अल्लाह मार्ग दिखाए, वही मार्ग पानेवाला है और जिसे वह भटकता छोड़ दे उसका तुम कोई सहायक मार्गदर्शक कदापि न पाओगे

English Sahih:

And [had you been present], you would see the sun when it rose, inclining away from their cave on the right, and when it set, passing away from them on the left, while they were [lying] within an open space thereof. That was from the signs of Allah. He whom Allah guides is the [rightly] guided, but he whom He sends astray – never will you find for him a protecting guide.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ग़रज़ ये ठान कर ग़ार में जा पहुँचे) कि जब सूरज निकलता है तो देखेगा कि वह उनके ग़ार से दाहिनी तरफ झुक कर निकलता है और जब ग़ुरुब (डुबता) होता है तो उनसे बायीं तरफ कतरा जाता है और वह लोग (मजे से) ग़ार के अन्दर एक वसीइ (बड़ी) जगह में (लेटे) हैं ये ख़ुदा (की कुदरत) की निशानियों में से (एक निशानी) है जिसको हिदायत करे वही हिदायत याफ्ता है और जिस को गुमराह करे तो फिर उसका कोई सरपरस्त रहनुमा हरगिज़ न पाओगे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और तुम सूर्य को देखोगे कि जब निकलता है, तो उनकी गूफा से दायें झुक जाता है और जब डूबता है, तो उनसे बायें कतरा जाता है और वे उस (गुफा) के एक विस्तृत स्थान में हैं। ये अल्लाह की निशानियों में से है और जिसे अल्लाह मार्ग दिखा दे, वही सुपथ पाने वाला है और जिसे कुपथ कर दे, तो तुम कदापि उसके लिए कोई सहायक मार्गदर्शक नहीं पाओगे।