Skip to main content

अल कहफ़ आयत १८ | Al-Kahf 18:18

And you (would) think them
وَتَحْسَبُهُمْ
और आप समझते उन्हें
awake
أَيْقَاظًا
कि वो जाग रहे हैं
while they
وَهُمْ
हालाँकि वो
(were) asleep
رُقُودٌۚ
सोए हुए थे
And We turned them
وَنُقَلِّبُهُمْ
और हम करवटें बदलते रहते उनकी
to
ذَاتَ
दाऐं जानिब
the right
ٱلْيَمِينِ
दाऐं जानिब
and to
وَذَاتَ
और बाऐं जानिब
the left
ٱلشِّمَالِۖ
और बाऐं जानिब
while their dog
وَكَلْبُهُم
और कुत्ता उनका
stretched
بَٰسِطٌ
फैलाए हुए था
his two forelegs
ذِرَاعَيْهِ
अपने दोनों हाथ
at the entrance
بِٱلْوَصِيدِۚ
दहाने पर
If
لَوِ
अगर
you had looked
ٱطَّلَعْتَ
झाँकते आप
at them
عَلَيْهِمْ
उन पर
you (would) have surely turned back
لَوَلَّيْتَ
अलबत्ता पीठ फेर लेते आप
from them
مِنْهُمْ
उनसे
(in) flight
فِرَارًا
भागते हुए
and surely you would have been filled
وَلَمُلِئْتَ
और अलबत्ता भर दिए जाते आप
by them
مِنْهُمْ
उनसे
(with) terror
رُعْبًا
रौब में

Watahsabuhum ayqathan wahum ruqoodun wanuqallibuhum thata alyameeni wathata alshshimali wakalbuhum basitun thira'ayhi bialwaseedi lawi ittala'ta 'alayhim lawallayta minhum firaran walamulita minhum ru'ban

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और तुम समझते कि वे जाग रहे है, हालाँकि वे सोए हुए होते। हम उन्हें दाएँ और बाएँ फेरते और उनका कुत्ता ड्योढ़ी पर अपनी दोनों भुजाएँ फैलाए हुए होता। यदि तुम उन्हें कहीं झाँककर देखते तो उनके पास से उलटे पाँव भाग खड़े होते और तुममें उसका भय समा जाता

English Sahih:

And you would think them awake, while they were asleep. And We turned them to the right and to the left, while their dog stretched his forelegs at the entrance. If you had looked at them, you would have turned from them in flight and been filled by them with terror.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तू उनको समझेगा कि वह जागते हैं हालॉकि वह (गहरी नींद में) सो रहे हैं और हम कभी दाहिनी तरफ और कभी बायीं तरफ उनकी करवट बदलवा देते हैं और उनका कुत्ताा अपने आगे के दोनो पाँव फैलाए चौखट पर डटा बैठा है (उनकी ये हालत है कि) अगर कहीं तू उनको झाक कर देखे तो उलटे पाँव ज़रुर भाग खड़े हो और तेरे दिल में दहशत समा जाए

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और तुम[1] उन्हें समझोगे कि जाग रहे हैं, जबकि वे सोये हुए हैं और हम उन्हें दायें तथा बायें पार्शव पर फिराते रहते हैं और उनका कुत्ता गुफा के द्वार पर अपनी दोनों बाहें फैलाये पड़ा है। यदि तुम झाँककर देख लेते, तो पीठ फेरकर भाग जाते और उनसे भयपूर्ण हो जाते।