Skip to main content
He said
قَالَ
कहा
"My Lord!
رَبِّ
ऐ मेरे रब
Indeed, [I]
إِنِّى
बेशक मैं
(have) weakened
وَهَنَ
कमज़ोर हो गईं
my bones
ٱلْعَظْمُ
हड्डियाँ
my bones
مِنِّى
मेरी
and flared
وَٱشْتَعَلَ
और भड़क उठा
(my) head
ٱلرَّأْسُ
सर
(with) white
شَيْبًا
बुढ़ापे से
and not
وَلَمْ
और नहीं
I have been
أَكُنۢ
हुआ मैं
in (my) supplication (to) You
بِدُعَآئِكَ
पुकार कर तुझे
my Lord
رَبِّ
ऐ मेरे रब
unblessed
شَقِيًّا
कभी नामुराद

Qala rabbi innee wahana al'athmu minnee waishta'ala alrrasu shayban walam akun bidu'aika rabbi shaqiyyan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसने कहा, 'मेरे रब! मेरी हड्डियाँ कमज़ोर हो गई और सिर बुढापे से भड़क उठा। और मेरे रब! तुझे पुकारकर मैं कभी बेनसीब नहीं रहा

English Sahih:

He said, "My Lord, indeed my bones have weakened, and my head has filled with white, and never have I been in my supplication to You, my Lord, unhappy [i.e., disappointed].

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(और) अर्ज़ की ऐ मेरे पालने वाले मेरी हड्डियां कमज़ोर हो गई और सर है कि बुढ़ापे की (आग से) भड़क उठा (सेफद हो गया) है और ऐ मेरे पालने वाले मैं तेरी बारगाह में दुआ कर के कभी महरूम नहीं रहा हूँ

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उसने कहाः मेरे पालनहार! मेरी अस्थियाँ निर्बल हो गयीं, सिर बुढ़ापे से सफेद[1] हो गया है तथा मेरे पालनहार! कभी ऐसा नहीं हुआ कि तुझसे प्रार्थना करके निष्फल हुआ हूँ।