Skip to main content

अल बकराह आयत १३८ | Al-Baqrah 2:138

(The) color (religion)
صِبْغَةَ
रंग
(of) Allah!
ٱللَّهِۖ
अल्लाह का
And who
وَمَنْ
और कौन
(is) better
أَحْسَنُ
ज़्यादा अच्छा है
than
مِنَ
अल्लाह से
Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह से
at coloring?
صِبْغَةًۖ
रंग में
And we
وَنَحْنُ
और हम
to Him
لَهُۥ
उसी की
(are) worshippers
عَٰبِدُونَ
इबादत करने वाले हैं

Sibghata Allahi waman ahsanu mina Allahi sibghatan wanahnu lahu 'abidoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

(कहो,) 'अल्लाह का रंग ग्रहण करो, उसके रंग से अच्छा और किसका रंह हो सकता है? और हम तो उसी की बन्दगी करते हैं।'

English Sahih:

[And say, "Ours is] the religion of Allah. And who is better than Allah in [ordaining] religion? And we are worshippers of Him."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(मुसलमानों से कहो कि) रंग तो खुदा ही का रंग है जिसमें तुम रंगे गए और खुदाई रंग से बेहतर कौन रंग होगा और हम तो उसी की इबादत करते हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तुम सब अल्लाह के रंग[1] (स्वभाविक धर्म) को ग्रहण कर लो और अल्लाह के रंग से अच्छा किसका रंग होगा? हम तो उसी की इबादत (वंदना) करते हैं।