Skip to main content
bismillah
الٓمٓ
अलिफ़ लाम मीम

Aliflammeem

अलीफ़॰ लाम॰ मीम॰

Tafseer (तफ़सीर )
ذَٰلِكَ
ये
ٱلْكِتَٰبُ
किताब
لَا
नहीं
رَيْبَۛ
कोई शक
فِيهِۛ
इस में
هُدًى
हिदायत है
لِّلْمُتَّقِينَ
मुत्तक़ी लोगों के लिए

Thalika alkitabu la rayba feehi hudan lilmuttaqeena

वह किताब यही हैं, जिसमें कोई सन्देह नहीं, मार्गदर्शन हैं डर रखनेवालों के लिए,

Tafseer (तफ़सीर )
ٱلَّذِينَ
वो जो
يُؤْمِنُونَ
ईमान लाते हैं
بِٱلْغَيْبِ
ग़ैब पर
وَيُقِيمُونَ
और वो क़ायम करते हैं
ٱلصَّلَوٰةَ
नमाज़
وَمِمَّا
और उससे जो
رَزَقْنَٰهُمْ
रिज़्क़ दिया हमने उन्हें
يُنفِقُونَ
वो ख़र्च करते हैं

Allatheena yuminoona bialghaybi wayuqeemoona alssalata wamimma razaqnahum yunfiqoona

जो अनदेखे ईमान लाते हैं, नमाज़ क़ायम करते हैं और जो कुछ हमने उन्हें दिया हैं उसमें से कुछ खर्च करते हैं;

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
يُؤْمِنُونَ
ईमान लाते हैं
بِمَآ
उस पर जो
أُنزِلَ
नाज़िल किया गया
إِلَيْكَ
तरफ़ आपके
وَمَآ
और जो
أُنزِلَ
नाज़िल किया गया
مِن
आपसे पहले
قَبْلِكَ
आपसे पहले
وَبِٱلْءَاخِرَةِ
और आख़िरत पर
هُمْ
वो
يُوقِنُونَ
वो यक़ीन रखते हैं

Waallatheena yuminoona bima onzila ilayka wama onzila min qablika wabialakhirati hum yooqinoona

और जो उस पर ईमान लाते हैं जो तुम पर उतरा और जो तुमसे पहले अवतरित हुआ हैं और आख़िरत पर वही लोग विश्वास रखते हैं;

Tafseer (तफ़सीर )
أُو۟لَٰٓئِكَ
यही लोग हैं
عَلَىٰ
हिदायत पर
هُدًى
हिदायत पर
مِّن
अपने रब की तरफ़ से
رَّبِّهِمْۖ
अपने रब की तरफ़ से
وَأُو۟لَٰٓئِكَ
और यही लोग हैं
هُمُ
वो
ٱلْمُفْلِحُونَ
जो फ़लाह पाने वाले हैं

Olaika 'ala hudan min rabbihim waolaika humu almuflihoona

वही लोग हैं जो अपने रब के सीधे मार्ग पर हैं और वही सफलता प्राप्त करनेवाले हैं

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
ٱلَّذِينَ
वो जिन्होंने
كَفَرُوا۟
कुफ़्र किया
سَوَآءٌ
यकसाँ/बराबर है
عَلَيْهِمْ
उन पर
ءَأَنذَرْتَهُمْ
ख़्वाह डराऐं आप उन्हें
أَمْ
या
لَمْ
ना
تُنذِرْهُمْ
आप डराऐं उन्हें
لَا
नहीं वो ईमान लाऐंगे
يُؤْمِنُونَ
नहीं वो ईमान लाऐंगे

Inna allatheena kafaroo sawaon 'alayhim aanthartahum am lam tunthirhum la yuminoona

जिन लोगों ने कुफ़्र (इनकार) किया उनके लिए बराबर हैं, चाहे तुमने उन्हें सचेत किया हो या सचेत न किया हो, वे ईमान नहीं लाएँगे

Tafseer (तफ़सीर )
خَتَمَ
मोहर लगा दी
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
عَلَىٰ
ऊपर
قُلُوبِهِمْ
उनके दिलों के
وَعَلَىٰ
और ऊपर
سَمْعِهِمْۖ
उनके कानों के
وَعَلَىٰٓ
और ऊपर
أَبْصَٰرِهِمْ
उनकी आँखों के
غِشَٰوَةٌۖ
पर्दा है
وَلَهُمْ
और उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
عَظِيمٌ
बहुत बड़ा

Khatama Allahu 'ala quloobihim wa'ala sam'ihim wa'ala absarihim ghishawatun walahum 'athabun 'atheemun

अल्लाह ने उनके दिलों पर और कानों पर मुहर लगा दी है और उनकी आँखों पर परदा पड़ा है, और उनके लिए बड़ी यातना है

Tafseer (तफ़सीर )
وَمِنَ
और बाज़ लोग हैं
ٱلنَّاسِ
और बाज़ लोग हैं
مَن
जो
يَقُولُ
कहते हैं
ءَامَنَّا
ईमान लाए हम
بِٱللَّهِ
अल्लाह पर
وَبِٱلْيَوْمِ
और आख़िरी दिन पर
ٱلْءَاخِرِ
और आख़िरी दिन पर
وَمَا
और नहीं
هُم
वो
بِمُؤْمِنِينَ
ईमान लाने वाले

Wamina alnnasi man yaqoolu amanna biAllahi wabialyawmi alakhiri wama hum bimumineena

कुछ लोग ऐसे हैं जो कहते हैं कि हम अल्लाह और अन्तिम दिन पर ईमान रखते हैं, हालाँकि वे ईमान नहीं रखते

Tafseer (तफ़सीर )
يُخَٰدِعُونَ
वो धोखा देते हैं
ٱللَّهَ
अल्लाह को
وَٱلَّذِينَ
और उनको जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
وَمَا
और नहीं
يَخْدَعُونَ
वो धोखा देते
إِلَّآ
मगर
أَنفُسَهُمْ
अपने नफ़्सों को
وَمَا
और नहीं
يَشْعُرُونَ
वो शऊर रखते

Yukhadi'oona Allaha waallatheena amanoo wama yakhda'oona illa anfusahum wama yash'uroona

वे अल्लाह और ईमानवालों के साथ धोखेबाज़ी कर रहे हैं, हालाँकि धोखा वे स्वयं अपने-आपको ही दे रहे हैं, परन्तु वे इसको महसूस नहीं करते

Tafseer (तफ़सीर )
فِى
उनके दिलों में
قُلُوبِهِم
उनके दिलों में
مَّرَضٌ
मर्ज़ है
فَزَادَهُمُ
तो ज़्यादा कर दिया उन्हें
ٱللَّهُ
अल्लाह ने
مَرَضًاۖ
मर्ज़ में
وَلَهُمْ
और उनके लिए
عَذَابٌ
अज़ाब है
أَلِيمٌۢ
अलमनाक/दर्दनाक
بِمَا
बवजह उसके जो
كَانُوا۟
थे वो
يَكْذِبُونَ
वो झूठ बोलते

Fee quloobihim maradun fazadahumu Allahu maradan walahum 'athabun aleemun bima kanoo yakthiboona

उनके दिलों में रोग था तो अल्लाह ने उनके रोग को और बढ़ा दिया और उनके लिए झूठ बोलते रहने के कारण उनके लिए एक दुखद यातना है

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल बकराह
القرآن الكريم:البقرة
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Al-Baqarah
सूरा:2
कुल आयत:286
कुल शब्द:6121
कुल वर्ण:25500
रुकु:40
वर्गीकरण:मदीनन सूरा
Revelation Order:87
से शुरू आयत:7