Skip to main content

अल-अम्बिया आयत ६८ | Al-Ambiya 21:68

They said
قَالُوا۟
उन्होंने कहा
"Burn him
حَرِّقُوهُ
जला डालो इसे
and support
وَٱنصُرُوٓا۟
और मदद करो
your gods
ءَالِهَتَكُمْ
अपने इलाहों की
if
إِن
अगर
you are
كُنتُمْ
हो तुम
doers"
فَٰعِلِينَ
करने वाले

Qaloo harriqoohu waonsuroo alihatakum in kuntum fa'ileena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उन्होंने कहा, 'जला दो उसे, और सहायक हो अपने देवताओं के, यदि तुम्हें कुछ करना है।'

English Sahih:

They said, "Burn him and support your gods – if you are to act."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(आख़िर) वह लोग (बाहम) कहने लगे कि अगर तुम कुछ कर सकते हो तो इबराहीम को आग में जला दो और अपने खुदाओं की मदद करो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उन्होंने कहाः इसे जला दो तथा सहायता करो अपने पूज्यों की, यदि तुम्हें कुछ करना है।