Skip to main content

अल-मुमिनून आयत १८ | Al-Mu’minun 23:18

And We send down
وَأَنزَلْنَا
और उतारा हम ने
from
مِنَ
आसमान से
the sky
ٱلسَّمَآءِ
आसमान से
water
مَآءًۢ
पानी
in (due) measure
بِقَدَرٍ
साथ एक अन्दाज़े के
then We cause it to settle
فَأَسْكَنَّٰهُ
फिर ठहराया हम ने उसे
in
فِى
ज़मीन में
the earth
ٱلْأَرْضِۖ
ज़मीन में
And indeed, We
وَإِنَّا
और बेशक हम
on
عَلَىٰ
ले जाने पर
taking it away
ذَهَابٍۭ
ले जाने पर
taking it away
بِهِۦ
उसे
surely (are) Able
لَقَٰدِرُونَ
अलबत्ता क़ादिर हैं

Waanzalna mina alssamai maan biqadarin faaskannahu fee alardi wainna 'ala thahabin bihi laqadiroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और हमने आकाश से एक अंदाज़े के साथ पानी उतारा। फिर हमने उसे धरती में ठहरा दिया, और उसे विलुप्त करने की सामर्थ्य भी हमें प्राप्त है

English Sahih:

And We have sent down rain from the sky in a measured amount and settled it in the earth. And indeed, We are Able to take it away.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और हमने आसमान से एक अन्दाजे क़े साथ पानी बरसाया फिर उसको ज़मीन में (हसब मसलेहत) ठहराए रखा और हम तो यक़ीनन उसके ग़ाएब कर देने पर भी क़ाबू रखते है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और हमने आकाश से उचित मात्रा में पानी बरसाया और उसे धरती में रोक दिया तथा हम उसे विलुप्त कर देने पर निश्चय सामर्थ्यवान हैं।