Skip to main content

अल-फुरकान आयत २४ | Al-Furqan 25:24

(The) companions
أَصْحَٰبُ
जन्नत वाले
(of) Paradise
ٱلْجَنَّةِ
जन्नत वाले
that Day
يَوْمَئِذٍ
उस दिन
(will be in) a better
خَيْرٌ
बेहतर होंगे
abode
مُّسْتَقَرًّا
ठिकाने में
and a better
وَأَحْسَنُ
और ज़्यादा अच्छे
resting-place
مَقِيلًا
दोपहर गुज़ारने की जगह में

Ashabu aljannati yawmaithin khayrun mustaqarran waahsanu maqeelan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उस दिन जन्नतवाले ठिकाने की दृष्टि से अच्छे होगे और आरामगाह की दृष्टि से भी अच्छे होंगे

English Sahih:

The companions of Paradise, that Day, are [in] a better settlement and better resting place.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

उस दिन जन्नत वालों का ठिकाना भी बेहतर है बेहतर होगा और आरमगाह भी अच्छी से अच्छी

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

स्वर्ग के अधिकारी, उस दिन अच्छे स्थान तथा सुखद शयनकक्ष में होंगे।