Skip to main content

अस-शुआरा आयत २०३ | Ash-Shu’ara 26:203

Then they will say
فَيَقُولُوا۟
फिर वो कहेंगे
"Are
هَلْ
क्या
we
نَحْنُ
हम
(to be) reprieved?"
مُنظَرُونَ
मोहलत दिए जाने वाले हैं

Fayaqooloo hal nahnu muntharoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

तब वे कहेंगे, 'क्या हमें कुछ मुहलत मिल सकती है?'

English Sahih:

And they will say, "May we be reprieved?"

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(मगर जब अज़ाब नाज़िल होगा) तो वह लोग कहेंगे कि क्या हमें (इस वक्त क़ुछ) मोहलत मिल सकती है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तो कहेंगेः क्या हमें अवसर दिया जायेगा?