Skip to main content

अल-क़सस आयत ४६ | Al-Qasas 28:46

And not
وَمَا
और ना
you were
كُنتَ
थे आप
at (the) side
بِجَانِبِ
तूर की जानिब
(of) the Tur
ٱلطُّورِ
तूर की जानिब
when
إِذْ
जब
We called
نَادَيْنَا
पुकारा हमने (मूसा को)
But
وَلَٰكِن
और लेकिन
(as) a mercy
رَّحْمَةً
ये रहमत है
from
مِّن
आपके रब की तरफ़ से
your Lord
رَّبِّكَ
आपके रब की तरफ़ से
so that you warn
لِتُنذِرَ
ताकि आप डराऐं
a people
قَوْمًا
एक क़ौम को
not
مَّآ
नहीं
(had) come to them
أَتَىٰهُم
आया उनके पास
any
مِّن
कोई डराने वाला
warner
نَّذِيرٍ
कोई डराने वाला
before you
مِّن
आपसे पहले
before you
قَبْلِكَ
आपसे पहले
so that they may
لَعَلَّهُمْ
शायद कि वो
remember
يَتَذَكَّرُونَ
वो नसीहत पकड़ें

Wama kunta bijanibi alttoori ith nadayna walakin rahmatan min rabbika litunthira qawman ma atahum min natheerin min qablika la'allahum yatathakkaroona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और तुम तूर के अंचल में भी उपस्थित न थे जब हमने पुकारा था, किन्तु यह तुम्हारे रब की दयालुता है - ताकि तुम ऐसे लोगों को सचेत कर दो जिनके पास तुमसे पहले कोई सचेत करनेवाला नहीं आया, ताकि वे ध्यान दें

English Sahih:

And you were not at the side of the mount when We called [Moses] but [were sent] as a mercy from your Lord to warn a people to whom no warner had come before you that they might be reminded.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और न तुम तूर की किसी जानिब उस वक्त मौजूद थे जब हमने (मूसा को) आवाज़ दी थी (ताकि तुम देखते) मगर ये तुम्हारे परवरदिगार की मेहरबानी है ताकि तुम उन लोगों को जिनके पास तुमसे पहले कोई डराने वाला आया ही नहीं डराओ ताकि ये लोग नसीहत हासिल करें

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा नहीं थे आप तूर के अंचल में, जब हमने उसे पुकारा, परन्तु आपके पालनहार की दया है, ताकि आप सतर्क करें जिनके पास नहीं आया कोई सचेत करने वाला आपसे पूर्व, ताकि वे शिक्षा ग्रहण करें।