Skip to main content

फातिर आयत २८ | Fatir 35:28

And among
وَمِنَ
और इन्सानों में से
men
ٱلنَّاسِ
और इन्सानों में से
and moving creatures
وَٱلدَّوَآبِّ
और जानवरों
and the cattle
وَٱلْأَنْعَٰمِ
और मवेशियों में से
(are) various
مُخْتَلِفٌ
मुख़्तलिफ़ हैं
[their] colors
أَلْوَٰنُهُۥ
रंग उनके
likewise
كَذَٰلِكَۗ
इसी तरह
Only
إِنَّمَا
बेशक
fear
يَخْشَى
डरते हैं
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह से
among
مِنْ
उसके बन्दों में से
His slaves
عِبَادِهِ
उसके बन्दों में से
those who have knowledge
ٱلْعُلَمَٰٓؤُا۟ۗ
उलेमा ही
Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
(is) All-Mighty
عَزِيزٌ
बहुत ज़बरदस्त है
Oft-Forgiving
غَفُورٌ
बहुत बख़श्ने वाला है

Wamina alnnasi waalddawabbi waalan'ami mukhtalifun alwanuhu kathalika innama yakhsha Allaha min 'ibadihi al'ulamao inna Allaha 'azeezun ghafoorun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और मनुष्यों और जानवरों और चौपायों के रंग भी इसी प्रकार भिन्न हैं। अल्लाह से डरते तो उसके वही बन्दे हैं, जो बाख़बर है। निश्चय ही अल्लाह अत्यन्त प्रभुत्वशाली, क्षमाशील है

English Sahih:

And among people and moving creatures and grazing livestock are various colors similarly. Only those fear Allah, from among His servants, who have knowledge. Indeed, Allah is Exalted in Might and Forgiving.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और इसी तरह आदमियों और जानवरों और चारपायों की भी रंगते तरह-तरह की हैं उसके बन्दों में ख़ुदा का ख़ौफ करने वाले तो बस उलेमा हैं बेशक खुदा (सबसे) ग़ालिब और बख्शने वाला है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा मनुष्य, जीवों तथा पशुओं में भी विभिन्न रंगों के हैं, इसी प्रकार। वास्तव में, डरते हैं अल्लाह से उसके भक्तों में से वही जो ज्ञानी[1] हों। निःसंदेह अल्लाह अति प्रभुत्वशाली, क्षमी है।