Skip to main content

अज-ज़ुमर आयत ४३ | Az-Zumar 39:43

Or
أَمِ
क्या
have they taken
ٱتَّخَذُوا۟
उन्होंने बना रखे हैं
besides
مِن
सिवाए
besides
دُونِ
सिवाए
Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के
intercessors?
شُفَعَآءَۚ
कुछ सिफ़ारिशी
Say
قُلْ
कह दीजिए
"Even though
أَوَلَوْ
क्या भला अगर
they were
كَانُوا۟
हों वो
not
لَا
ना वो मिल्कियत रखते
possessing
يَمْلِكُونَ
ना वो मिल्कियत रखते
anything
شَيْـًٔا
किसी चीज़ की
and not
وَلَا
और ना
they understand?"
يَعْقِلُونَ
वो अक़्ल रखते

Ami ittakhathoo min dooni Allahi shufa'aa qul awalaw kanoo la yamlikoona shayan wala ya'qiloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

(क्या उनके उपास्य प्रभुता में साझीदार है) या उन्होंने अल्लाह से हटकर दूसरों को सिफ़ारिशी बना रखा है? कहो, 'क्या यद्यपि वे किसी चीज़ का अधिकार न रखते हों और न कुछ समझते ही हो तब भी?'

English Sahih:

Or have they taken other than Allah as intercessors? Say, "Even though they do not possess [power over] anything, nor do they reason?"

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

क्या उन लोगों ने ख़ुदा के सिवा (दूसरे) सिफारिशी बना रखे है (ऐ रसूल) तुम कह दो कि अगरचे वह लोग न कुछ एख़तेयार रखते हों न कुछ समझते हों

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

क्या उन्होंने बना लिए हैं अल्लाह के अतिरिक्त बहुत-से अभिस्तावक (सिफ़ारिशी)? आप कह दें: क्या (ये सिफ़ारिश करेंगे) यदि वे अधिकार न रखते हों किसी चीज़ का और न ही समझ सकते हों?