Skip to main content
bismillah
تَنزِيلُ
नाज़िल करना हैं
ٱلْكِتَٰبِ
किताब का
مِنَ
अल्लाह की तरफ़ से
ٱللَّهِ
अल्लाह की तरफ़ से
ٱلْعَزِيزِ
जो बहुत ज़बरदस्त है
ٱلْحَكِيمِ
ख़ूब हिकमत वाला है

Tanzeelu alkitabi mina Allahi al'azeezi alhakeemi

इस किताब का अवतरण अल्लाह अत्यन्त प्रभुत्वशाली, तत्वदर्शी की ओर से है

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّآ
बेशक हम
أَنزَلْنَآ
नाज़िल की हमने
إِلَيْكَ
तरफ़ आपके
ٱلْكِتَٰبَ
किताब
بِٱلْحَقِّ
साथ हक़ के
فَٱعْبُدِ
पस इबादत कीजिए
ٱللَّهَ
अल्लाह की
مُخْلِصًا
ख़ालिस करते हुए
لَّهُ
उसके लिए
ٱلدِّينَ
दीन को

Inna anzalna ilayka alkitaba bialhaqqi fao'budi Allaha mukhlisan lahu alddeena

निस्संदेह हमने यह किताब तुम्हारी ओर सत्य के साथ अवतरित की है

Tafseer (तफ़सीर )
أَلَا
ख़बरदार
لِلَّهِ
अल्लाह ही के लिए है
ٱلدِّينُ
दीन
ٱلْخَالِصُۚ
ख़ालिस
وَٱلَّذِينَ
और वो जिन्होंने
ٱتَّخَذُوا۟
बना रखे हैं
مِن
उसके सिवा
دُونِهِۦٓ
उसके सिवा
أَوْلِيَآءَ
सरपरस्त
مَا
नहीं
نَعْبُدُهُمْ
हम इबादत करते उनकी
إِلَّا
मगर
لِيُقَرِّبُونَآ
ताकि वो क़रीब कर दें हमें
إِلَى
तरफ़ अल्लाह के
ٱللَّهِ
तरफ़ अल्लाह के
زُلْفَىٰٓ
क़रीब करना
إِنَّ
बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
يَحْكُمُ
वो फ़ैसला करेगा
بَيْنَهُمْ
दर्मियान उनके
فِى
उसमें जो
مَا
उसमें जो
هُمْ
वो
فِيهِ
जिस में
يَخْتَلِفُونَۗ
वो इख़्तिलाफ़ करते हैं
إِنَّ
बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
لَا
नहीं वो हिदायत देता
يَهْدِى
नहीं वो हिदायत देता
مَنْ
उसे जो है
هُوَ
वो
كَٰذِبٌ
झूठा
كَفَّارٌ
बहुत नाशुक्रा

Ala lillahi alddeenu alkhalisu waallatheena ittakhathoo min doonihi awliyaa ma na'buduhum illa liyuqarriboona ila Allahi zulfa inna Allaha yahkumu baynahum fee ma hum feehi yakhtalifoona inna Allaha la yahdee man huwa kathibun kaffarun

जान रखो कि विशुद्ध धर्म अल्लाह ही के लिए है। रहे वे लोग जिन्होंने उससे हटकर दूसरे समर्थक औऱ संरक्षक बना रखे है (कहते है,) 'हम तो उनकी बन्दगी इसी लिए करते है कि वे हमें अल्लाह का सामीप्य प्राप्त करा दें।' निश्चय ही अल्लाह उनके बीच उस बात का फ़ैसला कर देगा जिसमें वे विभेद कर रहे है। अल्लाह उसे मार्ग नहीं दिखाता जो झूठा और बड़ा अकृतज्ञ हो

Tafseer (तफ़सीर )
لَّوْ
अगर
أَرَادَ
चाहता
ٱللَّهُ
अल्लाह
أَن
कि
يَتَّخِذَ
वो बना ले
وَلَدًا
औलाद
لَّٱصْطَفَىٰ
अलबत्ता वो चुन लेता
مِمَّا
उसमें से जो
يَخْلُقُ
वो पैदा करता है
مَا
जो
يَشَآءُۚ
वो चाहता
سُبْحَٰنَهُۥۖ
पाक है वो
هُوَ
वो
ٱللَّهُ
अल्लाह
ٱلْوَٰحِدُ
एक है
ٱلْقَهَّارُ
बहुत ज़बरदस्त है

Law arada Allahu an yattakhitha waladan laistafa mimma yakhluqu ma yashao subhanahu huwa Allahu alwahidu alqahharu

यदि अल्लाह अपनी कोई सन्तान बनाना चाहता तो वह उसमें से, जिन्हें पैदा कर रहा है, चुन लेता। महान और उच्च है वह! वह अल्लाह है अकेला, सब पर क़ाबू रखनेवाला

Tafseer (तफ़सीर )
خَلَقَ
उसने पैदा किया
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
وَٱلْأَرْضَ
और ज़मीन को
بِٱلْحَقِّۖ
साथ हक़ के
يُكَوِّرُ
वो लपेटता है
ٱلَّيْلَ
रात को
عَلَى
दिन पर
ٱلنَّهَارِ
दिन पर
وَيُكَوِّرُ
और वो लपेटता है
ٱلنَّهَارَ
दिन को
عَلَى
रात पर
ٱلَّيْلِۖ
रात पर
وَسَخَّرَ
और उसने मुसख़्खर कर रखा है
ٱلشَّمْسَ
सूरज
وَٱلْقَمَرَۖ
और चाँद को
كُلٌّ
हर एक
يَجْرِى
चल रहा है
لِأَجَلٍ
एक वक़्त के लिए
مُّسَمًّىۗ
मुक़र्रर
أَلَا
ख़बरदार
هُوَ
वो ही है
ٱلْعَزِيزُ
बहुत ज़बरदस्त
ٱلْغَفَّٰرُ
बहुत बख़्शिश फ़रमाने वाला

Khalaqa alssamawati waalarda bialhaqqi yukawwiru allayla 'ala alnnahari wayukawwiru alnnahara 'ala allayli wasakhkhara alshshamsa waalqamara kullun yajree liajalin musamman ala huwa al'azeezu alghaffaru

उसने आकाशों और धरती को सत्य के साथ पैदा किया। रात को दिन पर लपेटता है और दिन को रात पर लपेटता है। और उसने सूर्य और चन्द्रमा को वशीभुत कर रखा है। प्रत्येक एक नियत समय को पूरा करने के लिए चल रहा है। जान रखो, वही प्रभुत्वशाली, बड़ा क्षमाशील है

Tafseer (तफ़सीर )
خَلَقَكُم
उसने पैदा किया तुम्हें
مِّن
जान से
نَّفْسٍ
जान से
وَٰحِدَةٍ
एक ही
ثُمَّ
फिर
جَعَلَ
उसने बनाया
مِنْهَا
उससे
زَوْجَهَا
जोड़ा उसका
وَأَنزَلَ
और उसने उतारे
لَكُم
तुम्हारे लिए
مِّنَ
मवेशियों में से
ٱلْأَنْعَٰمِ
मवेशियों में से
ثَمَٰنِيَةَ
आठ
أَزْوَٰجٍۚ
जोड़े
يَخْلُقُكُمْ
वो तख़लीक़ करता है तुम्हारी
فِى
पेटों में
بُطُونِ
पेटों में
أُمَّهَٰتِكُمْ
तुम्हारी माँओं के
خَلْقًا
एक तख़लीक़
مِّنۢ
बाद
بَعْدِ
बाद
خَلْقٍ
दूसरी (तख़लीक़ के)
فِى
अंधेरों में
ظُلُمَٰتٍ
अंधेरों में
ثَلَٰثٍۚ
तीन
ذَٰلِكُمُ
ये है
ٱللَّهُ
अल्लाह
رَبُّكُمْ
रब तुम्हारा
لَهُ
उसी के लिए है
ٱلْمُلْكُۖ
बादशाहत
لَآ
नहीं
إِلَٰهَ
कोई इलाह (बरहक़)
إِلَّا
मगर
هُوَۖ
वो ही
فَأَنَّىٰ
तो किस तरह
تُصْرَفُونَ
तुम फेरे जाते हो

Khalaqakum min nafsin wahidatin thumma ja'ala minha zawjaha waanzala lakum mina alan'ami thamaniyata azwajin yakhluqukum fee butooni ommahatikum khalqan min ba'di khalqin fee thulumatin thalathin thalikumu Allahu rabbukum lahu almulku la ilaha illa huwa faanna tusrafoona

उसने तुम्हें अकेली जान पैदा किया; फिर उसी से उसका जोड़ा बनाया औऱ तुम्हारे लिए चौपायों में से आठ नर-मादा उतारे। वह तुम्हारी माँओं के पेटों में तीन अँधेरों के भीतर तुम्हें एक सृजनरूप के पश्चात अन्य एक सृजनरूप देता चला जाता है। वही अल्लाह तुम्हारा रब है। बादशाही उसी की है, उसके अतिरिक्त कोई पूज्य-प्रभु नहीं। फिर तुम कहाँ फिरे जाते हो?

Tafseer (तफ़सीर )
إِن
अगर
تَكْفُرُوا۟
तुम नाशुक्री करोगे
فَإِنَّ
तो बेशक
ٱللَّهَ
अल्लाह
غَنِىٌّ
बहुत बेनियाज़ है
عَنكُمْۖ
तुमसे
وَلَا
और नहीं
يَرْضَىٰ
वो पसंद करता
لِعِبَادِهِ
अपने बन्दों के लिए
ٱلْكُفْرَۖ
नाशुक्री को
وَإِن
और अगर
تَشْكُرُوا۟
तुम शुक्र करोगे
يَرْضَهُ
वो पसंद करता है उसे
لَكُمْۗ
तुम्हारे लिए
وَلَا
और नहीं
تَزِرُ
बोझ उठाएगी
وَازِرَةٌ
कोई बोझ उठाने वाली
وِزْرَ
बोझ
أُخْرَىٰۗ
दूसरी का
ثُمَّ
फिर
إِلَىٰ
तरफ़ अपने रब ही के
رَبِّكُم
तरफ़ अपने रब ही के
مَّرْجِعُكُمْ
लौटना है तुम्हारा
فَيُنَبِّئُكُم
फिर वो बताएगा तुम्हें
بِمَا
वो जो
كُنتُمْ
थे तुम
تَعْمَلُونَۚ
तुम अमल करते
إِنَّهُۥ
बेशक वो
عَلِيمٌۢ
ख़ूब जानने वाला है
بِذَاتِ
सीनों के (भेद)
ٱلصُّدُورِ
सीनों के (भेद)

In takfuroo fainna Allaha ghaniyyun 'ankum wala yarda li'ibadihi alkufra wain tashkuroo yardahu lakum wala taziru waziratun wizra okhra thumma ila rabbikum marji'ukum fayunabbiokum bima kuntum ta'maloona innahu 'aleemun bithati alssudoori

यदि तुम इनकार करोगे तो अल्लाह तुमसे निस्पृह है। यद्यपि वह अपने बन्दों के लिए इनकार को पसन्द नहीं करता, किन्तु यदि तुम कृतज्ञता दिखाओगे, तो उसे वह तुम्हारे लिए पसन्द करता है। कोई बोझ न उठाएगा। फिर तुम्हारी वापसी अपने रब ही की ओर है। और वह तुम्हे बता देगा, जो कुछ तुम करते रहे होगे। निश्चय ही वह सीनों तक की बातें जानता है

Tafseer (तफ़सीर )
وَإِذَا
और जब
مَسَّ
पहुँचती है
ٱلْإِنسَٰنَ
इन्सान को
ضُرٌّ
कोई तक्लीफ़
دَعَا
वो पुकारता है
رَبَّهُۥ
अपने रब को
مُنِيبًا
रुजूअ करते हुए
إِلَيْهِ
तरफ़ उसके
ثُمَّ
फिर
إِذَا
जब
خَوَّلَهُۥ
वो अता कर देता है उसे
نِعْمَةً
कोई नेअमत
مِّنْهُ
अपने पास से
نَسِىَ
वो भूल जाता है
مَا
उसे जो
كَانَ
था वो
يَدْعُوٓا۟
वो पुकारता
إِلَيْهِ
तरफ़ उसके
مِن
उससे पहले
قَبْلُ
उससे पहले
وَجَعَلَ
और वो बना देता है
لِلَّهِ
अल्लाह के लिए
أَندَادًا
कुछ शरीक
لِّيُضِلَّ
ताकि वो भटका दे
عَن
उसके रास्ते से
سَبِيلِهِۦۚ
उसके रास्ते से
قُلْ
कह दीजिए
تَمَتَّعْ
फ़ायदा उठा ले
بِكُفْرِكَ
साथ अपने कुफ़्र के
قَلِيلًاۖ
थोड़ा सा
إِنَّكَ
बेशक तू
مِنْ
आग वालों में से है
أَصْحَٰبِ
आग वालों में से है
ٱلنَّارِ
आग वालों में से है

Waitha massa alinsana durrun da'a rabbahu muneeban ilayhi thumma itha khawwalahu ni'matan minhu nasiya ma kana yad'oo ilayhi min qablu waja'ala lillahi andadan liyudilla 'an sabeelihi qul tamatta' bikufrika qaleelan innaka min ashabi alnnari

जब मनुष्य को कोई तकलीफ़ पहुँचती है तो वह अपने रब को उसी की ओर रुजू होकर पुकारने लगता है, फिर जब वह उसपर अपनी अनुकम्पा करता है, तो वह उस चीज़ को भूल जाता है जिसके लिए पहले पुकार रहा था और (दूसरो को) अल्लाह के समकक्ष ठहराने लगता है, ताकि इसके परिणामस्वरूप वह उसकी राह से भटका दे। कह दो, 'अपने इनकार का थोड़ा मज़ा ले लो। निस्संदेह तुम आगवालों में से हो।'

Tafseer (तफ़सीर )
أَمَّنْ
क्या भला वो जो
هُوَ
क्या भला वो जो
قَٰنِتٌ
बन्दगी करने वाला है
ءَانَآءَ
घड़ियों में
ٱلَّيْلِ
रात की
سَاجِدًا
सजदा करने वाला है
وَقَآئِمًا
और क़याम करने वाला है
يَحْذَرُ
डरता है
ٱلْءَاخِرَةَ
आख़िरत से
وَيَرْجُوا۟
और उम्मीद रखता है
رَحْمَةَ
रहमत की
رَبِّهِۦۗ
अपने रब की
قُلْ
कह दीजिए
هَلْ
क्या
يَسْتَوِى
बराबर हो सकते हैं
ٱلَّذِينَ
वो जो
يَعْلَمُونَ
इल्म रखते हैं
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
لَا
नहीं वो इल्म रखते
يَعْلَمُونَۗ
नहीं वो इल्म रखते
إِنَّمَا
बेशक
يَتَذَكَّرُ
नसीहत पकड़ते हैं
أُو۟لُوا۟
अक़्ल वाले
ٱلْأَلْبَٰبِ
अक़्ल वाले

Amman huwa qanitun anaa allayli sajidan waqaiman yahtharu alakhirata wayarjoo rahmata rabbihi qul hal yastawee allatheena ya'lamoona waallatheena la ya'lamoona innama yatathakkaru oloo alalbabi

(क्या उक्त व्यक्ति अच्छा है) या वह व्यक्ति जो रात की घड़ियों में सजदा करता और खड़ा रहता है, आख़िरत से डरता है और अपने रब की दयालुता की आशा रखता हुआ विनयशीलता के साथ बन्दगी में लगा रहता है? कहो, 'क्या वे लोग जो जानते है और वे लोग जो नहीं जानते दोनों समान होंगे? शिक्षा तो बुद्धि और समझवाले ही ग्रहण करते है।'

Tafseer (तफ़सीर )
قُلْ
कह दीजिए
يَٰعِبَادِ
ऐ मेरे बन्दो
ٱلَّذِينَ
वो जो
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए हो
ٱتَّقُوا۟
डरो
رَبَّكُمْۚ
अपने रब से
لِلَّذِينَ
उनके लिए जिन्होंने
أَحْسَنُوا۟
अच्छा किया
فِى
इस दुनिया में
هَٰذِهِ
इस दुनिया में
ٱلدُّنْيَا
इस दुनिया में
حَسَنَةٌۗ
भलाई है
وَأَرْضُ
और ज़मीन
ٱللَّهِ
अल्लाह की
وَٰسِعَةٌۗ
वसीअ है
إِنَّمَا
बेशक
يُوَفَّى
पूरा-पूरा दिए जाऐंगे
ٱلصَّٰبِرُونَ
सब्र करने वाले
أَجْرَهُم
अजर अपना
بِغَيْرِ
बग़ैर
حِسَابٍ
हिसाब के

Qul ya 'ibadi allatheena amanoo ittaqoo rabbakum lillatheena ahsanoo fee hathihi alddunya hasanatun waardu Allahi wasi'atun innama yuwaffa alssabiroona ajrahum bighayri hisabin

कह दो कि 'ऐ मेरे बन्दो, जो ईमान लाए हो! अपने रब का डर रखो। जिन लोगों ने अच्छा कर दिखाया उनके लिए इस संसार में अच्छाई है, और अल्लाह की धरती विस्तृत है। जमे रहनेवालों को तो उनका बदला बेहिसाब मिलकर रहेगा।'

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अज-ज़ुमर
القرآن الكريم:الزمر
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Az-Zumar
सूरा:39
कुल आयत:75
कुल शब्द:1270
कुल वर्ण:4908
रुकु:8
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:59
से शुरू आयत:4058