Skip to main content

सूरह अल-अह्काफ़ आयत २३ | Al-Ahqaf 46:23

He said
قَالَ
उसने कहा
"Only
إِنَّمَا
बेशक
the knowledge
ٱلْعِلْمُ
इल्म
(is) with Allah
عِندَ
पास है
(is) with Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के
and I convey to you
وَأُبَلِّغُكُم
और मैं पहुँचाता हूँ तुम्हें
what
مَّآ
वो जो
I am sent
أُرْسِلْتُ
भेजा गया मैं
with it
بِهِۦ
साथ उसके
but
وَلَٰكِنِّىٓ
और लेकिन मैं
I see you
أَرَىٰكُمْ
मैं देखता हूँ तुम्हें
a people
قَوْمًا
ऐसे लोग
ignorant"
تَجْهَلُونَ
तुम जिहालत बरतते हो

Qala innama al'ilmu 'inda Allahi waoballighukum ma orsiltu bihi walakinnee arakum qawman tajhaloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसने कहा, 'ज्ञान तो अल्लाह ही के पास है (कि वह कब यातना लाएगा) । और मैं तो तुम्हें वह संदेश पहुँचा रहा हूँ जो मुझे देकर भेजा गया है। किन्तु मैं तुम्हें देख रहा हूँ कि तुम अज्ञानता से काम ले रहे हो।'

English Sahih:

He said, "Knowledge [of its time] is only with Allah, and I convey to you that with which I was sent; but I see you [to be] a people behaving ignorantly."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

हूद ने कहा (इसका) इल्म तो बस ख़ुदा के पास है और (मैं जो एहकाम देकर भेजा गया हूँ) वह तुम्हें पहुँचाए देता हूँ मगर मैं तुमको देखता हूँ कि तुम जाहिल लोग हो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

हूद ने कहाः उसका ज्ञान तो अल्लाह ही को है और मैं तुम्हें वही उपदेश पहुँचा रहा हूँ, जिसके साथ मैं भेजा गया हूँ। परन्तु, मैं देख रहा हूँ तुम्हें कि तुम अज्ञानता की बातें कर रहे हो।