Skip to main content

अल-आराफ़ आयत ५४ | Al-Aaraf 7:54

Indeed
إِنَّ
बेशक
your Lord
رَبَّكُمُ
रब तुम्हारा
(is) Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह है
the One Who
ٱلَّذِى
जिस ने
created
خَلَقَ
पैदा किया
the heavens
ٱلسَّمَٰوَٰتِ
आसमानों
and the earth
وَٱلْأَرْضَ
और ज़मीन को
in
فِى
छः दिनों में
six
سِتَّةِ
छः दिनों में
epochs
أَيَّامٍ
छः दिनों में
then
ثُمَّ
फिर
He ascended
ٱسْتَوَىٰ
वो बुलन्द हुआ
on
عَلَى
अर्श पर
the Throne
ٱلْعَرْشِ
अर्श पर
He covers
يُغْشِى
वो ढाँप देता है
the night
ٱلَّيْلَ
रात को
(with) the day
ٱلنَّهَارَ
दिन पर
seeking it
يَطْلُبُهُۥ
जो तलब करता है उसे
rapidly
حَثِيثًا
तेज़ी से
and the sun
وَٱلشَّمْسَ
और सूरज
and the moon
وَٱلْقَمَرَ
और चाँद
and the stars -
وَٱلنُّجُومَ
और सितारे
subjected
مُسَخَّرَٰتٍۭ
जो मुसख़्ख़र किए हुए हैं
by His command
بِأَمْرِهِۦٓۗ
उसके हुक्म के
Unquestionably
أَلَا
ख़बरदार
for Him
لَهُ
उसके लिए है
(is) the creation
ٱلْخَلْقُ
पैदा करना
and the command
وَٱلْأَمْرُۗ
और हुक्म देना
blessed
تَبَارَكَ
बहुत बाबरकत है
(is) Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
Lord
رَبُّ
जो रब है
(of) the worlds
ٱلْعَٰلَمِينَ
तमाम जहानों का

Inna rabbakumu Allahu allathee khalaqa alssamawati waalarda fee sittati ayyamin thumma istawa 'ala al'arshi yughshee allayla alnnahara yatlubuhu hatheethan waalshshamsa waalqamara waalnnujooma musakhkharatin biamrihi ala lahu alkhalqu waalamru tabaraka Allahu rabbu al'alameena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

निस्संदेह तुम्हारा रब वही अल्लाह है, जिसने आकाशों और धरती को छह दिनों में पैदा किया - फिर राजसिंहासन पर विराजमान हुआ। वह रात को दिन पर ढाँकता है जो तेज़ी से उसका पीछा करने में सक्रिय है। और सूर्य, चन्द्रमा और तारे भी बनाए, इस प्रकार कि वे उसके आदेश से काम में लगे हुए है। सावधान रहो, उसी की सृष्टि है और उसी का आदेश है। अल्लाह सारे संसार का रब, बड़ी बरकतवाला है

English Sahih:

Indeed, your Lord is Allah, who created the heavens and earth in six days and then established Himself above the Throne. He covers the night with the day, [another night] chasing it rapidly; and [He created] the sun, the moon, and the stars, subjected by His command. Unquestionably, His is the creation and the command; blessed is Allah, Lord of the worlds.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

बेशक उन लोगों ने अपना सख्त घाटा किया और जो इफ़तेरा परदाज़िया किया करते थे वह सब गायब (ग़ल्ला) हो गयीं बेशक तुम्हारा परवरदिगार ख़ुदा ही है जिसके (सिर्फ) 6 दिनों में आसमान और ज़मीन को पैदा किया फिर अर्श के बनाने पर आमादा हुआ वही रात को दिन का लिबास पहनाता है तो (गोया) रात दिन को पीछे पीछे तेज़ी से ढूंढती फिरती है और उसी ने आफ़ताब और माहताब और सितारों को पैदा किया कि ये सब के सब उसी के हुक्म के ताबेदार हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तुम्हारा पालनहार वही अल्लाह है, जिसने आकाशों तथा धरती को छः दिनों में बनाया[1], फिर अर्श (सिंहासन) पर स्थित हो गया। वह रात्रि से दिन को ढक देता है, दिन उसके पीछे दौड़ता हुआ आ जाता है, सूर्य तथा चाँद और तारे उसकी आज्ञा के अधीन हैं। सुन लो! वही उत्पत्तिकार है और वही शासक[2] है। वही अल्लाह अति शुभ संसार का पालनहार है।