Skip to main content

अल-आराफ़ आयत ७५ | Al-Aaraf 7:75

Said
قَالَ
कहा
the chiefs
ٱلْمَلَأُ
सरदारों ने
(of) those who
ٱلَّذِينَ
जिन्होंने
were arrogant
ٱسْتَكْبَرُوا۟
तकब्बुर किया
among
مِن
उसकी क़ौम में से
his people
قَوْمِهِۦ
उसकी क़ौम में से
to those who
لِلَّذِينَ
उन्हें जो
were oppressed -
ٱسْتُضْعِفُوا۟
कमज़ोर समझे जाते थे
[to] those who
لِمَنْ
उनको जो
believed
ءَامَنَ
ईमान ले आए थे
among them
مِنْهُمْ
उनमें से
"Do you know
أَتَعْلَمُونَ
क्या तुम जानते हो
that
أَنَّ
बेशक
Salih
صَٰلِحًا
सालेह
(is the) one sent
مُّرْسَلٌ
भेजा हुआ है
from
مِّن
अपने रब की तरफ़ से
his Lord?"
رَّبِّهِۦۚ
अपने रब की तरफ़ से
They said
قَالُوٓا۟
उन्होंने कहा
"Indeed we
إِنَّا
बेशक हम
in what
بِمَآ
साथ उस चीज़ के जो
he has been sent
أُرْسِلَ
वो भेजा गया
with [it]
بِهِۦ
उस पर
(are) believers"
مُؤْمِنُونَ
ईमान लाने वाले हैं

Qala almalao allatheena istakbaroo min qawmihi lillatheena istud'ifoo liman amana minhum ata'lamoona anna salihan mursalun min rabbihi qaloo inna bima orsila bihi muminoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसकी क़ौम के सरदार, जो बड़े बने हुए थे, उन कमज़ोर लोगों से, जो उनमें ईमान लाए थे, कहने लगे, 'क्या तुम जानते हो कि सालेह अपने रब का भेजा हुआ (पैग़म्बर) है?' उन्होंने कहा, 'निस्संदेह जिस चीज़ के साथ वह भेजा गया है, हम उसपर ईमान रखते है।'

English Sahih:

Said the eminent ones who were arrogant among his people to those who were oppressed – to those who believed among them, "Do you [actually] know that Saleh is sent from his Lord?" They said, "Indeed we, in that with which he was sent, are believers."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो उसकी क़ौम के बड़े बड़े लोगों ने बेचारें ग़रीबों से उनमें से जो ईमान लाए थे कहा क्या तुम्हें मालूम है कि सालेह (हक़ीकतन) अपने परवरदिगार के सच्चे रसूल हैं - उन बेचारों ने जवाब दिया कि जिन बातों का वह पैग़ाम लाए हैं हमारा तो उस पर ईमान है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उसकी जाति के घमंडी प्रमुखों ने उन निर्बलों से कहा, जो उनमें से ईमान लाये थेः क्या तुम विश्वास रखते हो कि सालेह़ अपने पालनहार का भेजा हुआ है? उन्होंने कहाः निश्चय जिस (संदेश) के साथ वह भेजा गया है, हम उसपर ईमान (विश्वास) रखते हैं।