Skip to main content

अल-मारिज आयत ३२ | Al-Ma’arij 70:32

And those who
وَٱلَّذِينَ
और वो जो
[they]
هُمْ
वो
of their trusts
لِأَمَٰنَٰتِهِمْ
अपनी अमानतों की
and their promise
وَعَهْدِهِمْ
और अपने वादों की
(are) observers
رَٰعُونَ
निगरानी करने वाले हैं

Waallatheena hum liamanatihim wa'ahdihim ra'oona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

जो अपने पास रखी गई अमानतों और अपनी प्रतिज्ञा का निर्वाह करते है,

English Sahih:

And those who are to their trusts and promises attentive.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और जो लोग अपनी अमानतों और अहदों का लेहाज़ रखते हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और जो अपनी अमानतों तथा अपने वचन का पालन करते हैं।