Skip to main content

अल-मारिज आयत ३१ | Al-Ma’arij 70:31

But whoever
فَمَنِ
फिर जो कोई
seeks
ٱبْتَغَىٰ
तलाश करे
beyond
وَرَآءَ
अलावा
that
ذَٰلِكَ
उसके
then those
فَأُو۟لَٰٓئِكَ
तो यही लोग हैं
[they]
هُمُ
वो
(are) the transgressors -
ٱلْعَادُونَ
जो हद से बढ़ने वाले हैं

Famani ibtagha waraa thalika faolaika humu al'adoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

किन्तु जिस किसी ने इसके अतिरिक्त कुछ और चाहा तो ऐसे ही लोग सीमा का उल्लंघन करनेवाले है।-

English Sahih:

But whoever seeks beyond that, then they are the transgressors –

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो जो लोग उनके सिवा और के ख़ास्तगार हों तो यही लोग हद से बढ़ जाने वाले हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और जो चाहे इसके अतिरिक्त, तो वही सीमा का उल्लंघन करने वाले हैं।