Skip to main content

अल-जिन्न आयत २१ | Al-Jinn 72:21

Say
قُلْ
कह दीजिए
"Indeed I
إِنِّى
बेशक मैं
(do) not
لَآ
नहीं मैं मालिक हो सकता
possess
أَمْلِكُ
नहीं मैं मालिक हो सकता
for you
لَكُمْ
तुम्हारे लिए
any harm
ضَرًّا
किसी नुक़्सान का
and not
وَلَا
और ना
right path"
رَشَدًا
किसी भलाई का

Qul innee la amliku lakum darran wala rashadan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

कह दो, 'मैं तो तुम्हारे लिए न किसी हानि का अधिकार रखता हूँ और न किसी भलाई का।'

English Sahih:

Say, "Indeed, I do not possess for you [the power of] harm or right direction."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ये भी) कह दो कि मैं तुम्हारे हक़ में न बुराई ही का एख्तेयार रखता हूँ और न भलाई का

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

आप कह दें कि मैं अधिकार नहीं रखता तुम्हारे लिए किसी हानि का, न सीधी राह पर लगा देने का।