Skip to main content

अन-नाज़िआ़त आयत २८ | An-Nazi’at 79:28

He raised
رَفَعَ
उसने बुलन्द किया
its ceiling
سَمْكَهَا
इसकी छत को
and proportioned it
فَسَوَّىٰهَا
फिर उसने दुरुस्त कर दिया उसे

Rafa'a samkaha fasawwaha

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसकी ऊँचाई को ख़ूब ऊँचा करके उसे ठीक-ठाक किया;

English Sahih:

He raised its ceiling and proportioned it.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

कि उसी ने उसको बनाया उसकी छत को ख़ूब ऊँचा रखा

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उसकी छत ऊँची की और चौरस किया।