Skip to main content

अत-तक्वीर आयत १४ | At-Takwir 81:14

Will know
عَلِمَتْ
जान लेगा
a soul
نَفْسٌ
हर नफ़्स
what
مَّآ
जो
it has brought
أَحْضَرَتْ
उसने हाज़िर किया

'alimat nafsun ma ahdarat

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

तो कोई भी क्यक्ति जान लेगा कि उसने क्या उपस्थित किया है

English Sahih:

A soul will [then] know what it has brought [with it].

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तब हर शख़्श मालूम करेगा कि वह क्या (आमाल) लेकर आया

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तो प्रत्येक प्राणी जान लेगा कि वह क्या लेकर आया है।[1]