Skip to main content

अल-इन्फिकार आयत १९ | Al-Infitar 82:19

(The) Day
يَوْمَ
जिस दिन
not
لَا
ना मालिक होगा
will have power
تَمْلِكُ
ना मालिक होगा
a soul
نَفْسٌ
कोई नफ़्स
for a soul
لِّنَفْسٍ
किसी नफ़्स के लिए
anything
شَيْـًٔاۖ
कुछ भी
and the Command
وَٱلْأَمْرُ
और हुक्म
that Day
يَوْمَئِذٍ
उस दिन
(will be) with Allah
لِّلَّهِ
अल्लाह ही का होगा

Yawma la tamliku nafsun linafsin shayan waalamru yawmaithin lillahi

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

जिस दिन कोई व्यक्ति किसी व्यक्ति के लिए किसी चीज़ का अधिकारी न होगा, मामला उस दिन अल्लाह ही के हाथ में होगा

English Sahih:

It is the Day when a soul will not possess for another soul [power to do] a thing; and the command, that Day, is [entirely] with Allah.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

उस दिन कोई शख़्श किसी शख़्श की भलाई न कर सकेगा और उस दिन हुक्म सिर्फ ख़ुदा ही का होगा

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

जिस दिन किसी का किसी के लिए कोई अधिकार नहीं होगा और उस दिन सब अधिकार अल्लाह का होगा।[1]