Skip to main content

अल-आदियात आयत ६ | Al-Adiyat 100:6

Indeed
إِنَّ
यक़ीनन
mankind
ٱلْإِنسَٰنَ
इन्सान
to his Lord
لِرَبِّهِۦ
अपने रब का
(is) surely ungrateful
لَكَنُودٌ
यक़ीनन बड़ा नाशुक्रा है

Inna alinsana lirabbihi lakanoodun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

निस्संदेह मनुष्य अपने रब का बड़ा अकृतज्ञ हैं,

English Sahih:

Indeed mankind, to his Lord, is ungrateful.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ग़रज़ क़सम है) कि बेशक इन्सान अपने परवरदिगार का नाशुक्रा है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

वास्तव में, इन्सान अपने पालनहार का बड़ा कृतघ्न (नाशुकरा) है।