Skip to main content

अल-अम्बिया आयत ९४ | Al-Ambiya 21:94

Then whoever
فَمَن
तो जो कोई
does
يَعْمَلْ
अमल करेगा
[of]
مِنَ
नेकियों में से
[the] righteous deeds
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेकियों में से
while he
وَهُوَ
जबकि वो
(is) a believer
مُؤْمِنٌ
मोमिन हो
then not
فَلَا
तो नहीं
(will be) rejected
كُفْرَانَ
कोई नाक़दरी
[of] his effort
لِسَعْيِهِۦ
उसकी कोशिश की
And indeed We
وَإِنَّا
और बेशक हम
of it
لَهُۥ
उसके लिए
(are) Recorders
كَٰتِبُونَ
लिखने वाले हैं

Faman ya'mal mina alssalihati wahuwa muminun fala kufrana lisa'yihi wainna lahu katiboona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

फिर जो अच्छे कर्म करेगा, शर्त या कि वह मोमिन हो, तो उसके प्रयास की उपेक्षा न होगी। हम तो उसके लिए उसे लिख रहे है

English Sahih:

So whoever does righteous deeds while he is a believer – no denial will there be for his effort, and indeed We [i.e., Our angels], of it, are recorders.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(उस वक्त फ़ैसला हो जाएगा कि) तो जो शख्स अच्छे-अच्छे काम करेगा और वह ईमानवाला भी हो तो उसकी कोशिश अकारत न की जाएगी और हम उसके आमाल लिखते जाते हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

फिर जो सदाचार करेगा और वह एकेश्वरवादी हो, तो उसके प्रयास की उपेक्षा नहीं की जायेगी और हम उसे लिख रहे हैं।