Skip to main content

अल-फुरकान आयत ३ | Al-Furqan 25:3

Yet they have taken
وَٱتَّخَذُوا۟
और उन्होंने बना लिए
besides Him
مِن
उसके सिवा
besides Him
دُونِهِۦٓ
उसके सिवा
gods
ءَالِهَةً
कुछ इलाह
not
لَّا
नहीं वो पैदा करते
they create
يَخْلُقُونَ
नहीं वो पैदा करते
anything
شَيْـًٔا
कोई चीज़
while they
وَهُمْ
और वो
are created
يُخْلَقُونَ
वो पैदा किए जाते हैं
and not
وَلَا
और नहीं
they possess
يَمْلِكُونَ
वो इख़्तियार रखते
for themselves
لِأَنفُسِهِمْ
अपने नफ़्सों के लिए
any harm
ضَرًّا
किसी नुक़्सान का
and not
وَلَا
और ना
any benefit
نَفْعًا
किसी नफ़ा का
and not
وَلَا
और नहीं
they control
يَمْلِكُونَ
वो इख़्तियार रखते
death
مَوْتًا
मौत का
and not
وَلَا
और ना
life
حَيَوٰةً
ज़िन्दगी का
and not
وَلَا
और ना
resurrection
نُشُورًا
दोबारा जी उठने का

Waittakhathoo min doonihi alihatan la yakhluqoona shayan wahum yukhlaqoona wala yamlikoona lianfusihim darran wala naf'an wala yamlikoona mawtan wala hayatan wala nushooran

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

फिर भी उन्होंने उससे हटकर ऐसे इष्ट -पूज्य बना लिए जो किसी चीज़ को पैदा नहीं करते, बल्कि वे स्वयं पैदा किए जाते है। उन्हें न तो अपनी हानि का अधिकार प्राप्त है और न लाभ का। और न उन्हें मृत्यु का अधिकार प्राप्त है और न जीवन का और न दोबारा जीवित होकर उठने का

English Sahih:

But they have taken besides Him gods which create nothing, while they are created, and possess not for themselves any harm or benefit and possess not [power to cause] death or life or resurrection.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और लोगों ने उसके सिवा दूसरे दूसरे माबूद बना रखें हैं जो कुछ भी पैदा नहीं कर सकते बल्कि वह खुद दूसरे के पैदा किए हुए हैं और वह खुद अपने लिए भी न नुक़सान पर क़ाबू रखते हैं न नफा पर और न मौत ही पर एख़्तियार रखते हैं और न ज़िन्दगी पर और न मरने बाद जी उठने पर

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और उन्होंने उसके अतिरिक्त अनेक पूज्य बना लिए हैं, जो किसी चीज़ की उत्पत्ति नहीं कर सकते और वे स्वयं उत्पन्न किये जाते हैं और न वे अधिकार रखते हैं अपने लिए किसी हानि का, न अधिकार रखते हैं किसी लाभ का, न अधिकार रखते हैं मरण और न जीवन और न पुनः[1] जीवित करने का।