Skip to main content

अल-अनकबूत आयत २० | Al-Ankabut 29:20

Say
قُلْ
कह दीजिए
"Travel
سِيرُوا۟
चलो-फिरो
in
فِى
ज़मीन में
the earth
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
and see
فَٱنظُرُوا۟
फिर देखो
how
كَيْفَ
किस तरह
He originated
بَدَأَ
उसने इब्तिदा की
the creation
ٱلْخَلْقَۚ
मख़लूक़ की
Then
ثُمَّ
फिर
Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
will produce
يُنشِئُ
वो उठाएगा
the creation
ٱلنَّشْأَةَ
उठाना
the last
ٱلْءَاخِرَةَۚ
आख़िरी बार
Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
on
عَلَىٰ
ऊपर
every
كُلِّ
हर
thing
شَىْءٍ
चीज़ के
(is) All-Powerful"
قَدِيرٌ
ख़ूब क़ुदरत रखना वाला है

Qul seeroo fee alardi faonthuroo kayfa badaa alkhalqa thumma Allahu yunshio alnnashata alakhirata inna Allaha 'ala kulli shayin qadeerun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

कहो कि, 'धरती में चलो-फिरो और देखो कि उसने किस प्रकार पैदाइश का आरम्भ किया। फिर अल्लाह पश्चात्वर्ती उठान उठाएगा। निश्चय ही अल्लाह को हर चीज़ की सामर्थ्य प्राप्त है

English Sahih:

Say, [O Muhammad], "Travel through the land and observe how He began creation. Then Allah will produce the final creation [i.e., development]. Indeed Allah, over all things, is competent."

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल इन लोगों से) तुम कह दो कि ज़रा रुए ज़मीन पर चलफिर कर देखो तो कि ख़ुदा ने किस तरह पहले पहल मख़लूक को पैदा किया फिर (उसी तरह वही) ख़ुदा (क़यामत के दिन) आखिरी पैदाइश पैदा करेगा- बेशक ख़ुदा हर चीज़ पर क़ादिर है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

(हे नबी!) कह दें कि चलो-फिरो धरती में, फिर देखो कि उसने कैसे उतपत्ति का आरंभ किया है? फिर अल्लाह दूसरी बार भी उत्पन्न[1] करेगा, वास्तव में, अल्लाह जो चाहे, कर सकता है।