Skip to main content

आले इमरान आयत १७९ | Aal-e-Imran 3:179

Not
مَّا
नहीं
is
كَانَ
है
Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
to leave
لِيَذَرَ
कि वो छोड़ दे
the believers
ٱلْمُؤْمِنِينَ
मोमिनों को
on
عَلَىٰ
ऊपर उसके
what
مَآ
जो हो
you (are)
أَنتُمْ
तुम
in [it]
عَلَيْهِ
जिस पर
until
حَتَّىٰ
यहाँ तक कि
He separates
يَمِيزَ
वो छाँट दे
the evil
ٱلْخَبِيثَ
नापाक को
from
مِنَ
पाक से
the good
ٱلطَّيِّبِۗ
पाक से
And not
وَمَا
और नहीं
is
كَانَ
है
Allah
ٱللَّهُ
अल्लाह
to inform you
لِيُطْلِعَكُمْ
कि वो आगाह करे तुम्हें
about
عَلَى
ग़ैब पर
the unseen
ٱلْغَيْبِ
ग़ैब पर
[and] but
وَلَٰكِنَّ
और लेकिन
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
chooses
يَجْتَبِى
चुन लेता है
from
مِن
अपने रसूलों में से
His Messengers
رُّسُلِهِۦ
अपने रसूलों में से
whom
مَن
जिसे
He wills
يَشَآءُۖ
वो चाहता है
so believe
فَـَٔامِنُوا۟
पस ईमान लाओ
in Allah
بِٱللَّهِ
अल्लाह पर
and His Messengers
وَرُسُلِهِۦۚ
और उसके रसूलों पर
and if
وَإِن
और अगर
you believe
تُؤْمِنُوا۟
तुम ईमान लाओगे
and fear (Allah)
وَتَتَّقُوا۟
और तुम तक़वा करोगे
then for you
فَلَكُمْ
तो तुम्हारे लिए
(is a) reward
أَجْرٌ
अजर है
great
عَظِيمٌ
बहुत बड़ा

Ma kana Allahu liyathara almumineena 'ala ma antum 'alayhi hatta yameeza alkhabeetha mina alttayyibi wama kana Allahu liyutli'akum 'ala alghaybi walakinna Allaha yajtabee min rusulihi man yashao faaminoo biAllahi warusulihi wain tuminoo watattaqoo falakum ajrun 'atheemun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अल्लाह ईमानवालों को इस दशा में नहीं रहने देगा, जिसमें तुम हो। यह तो उस समय तक की बात है जबतक कि वह अपवित्र को पवित्र से पृथक नहीं कर देता। और अल्लाह ऐसा नहीं है कि वह तुम्हें परोक्ष की सूचना दे दे। किन्तु अल्लाह इस काम के लिए जिसको चाहता है चुन लेता है, और वे उसके रसूल होते है। अतः अल्लाह और उसके रसूल पर ईमान लाओ। और यदि तुम ईमान लाओगे और (अल्लाह का) डर रखोगे तो तुमको बड़ा प्रतिदान मिलेगा

English Sahih:

Allah would not leave the believers in that [state] you are in [presently] until He separates the evil from the good. Nor would Allah reveal to you the unseen. But [instead], Allah chooses of His messengers whom He wills, so believe in Allah and His messengers. And if you believe and fear Him, then for you is a great reward.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(मुनाफ़िक़ो) ख़ुदा ऐसा नहीं कि बुरे भले की तमीज़ किए बगैर जिस हालत पर तुम हो उसी हालत पर मोमिनों को भी छोड़ दे और ख़ुदा ऐसा भी नहीं है कि तुम्हें गैब की बातें बता दे मगर (हॉ) ख़ुदा अपने रसूलों में जिसे चाहता है (गैब बताने के वास्ते) चुन लेता है पस ख़ुदा और उसके रसूलों पर ईमान लाओ और अगर तुम ईमान लाओगे और परहेज़गारी करोगे तो तुम्हारे वास्ते बड़ी जज़ाए ख़ैर है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

अल्लाह ऐसा नहीं है कि ईमान वालों को उसी (दशा) पर छोड़ दे, जिसपर तुम हो, जब तक बुरे को अच्छे से अलग न कर दे और अल्लाह ऐसा (भी) नहीं है कि तुम्हें ग़ैब (परोक्ष) से[1] सूचित कर दे, परन्तु अल्लाह अपने रसूलों में से (परोक्ष पर अवगत करने के लिए) जिसे चाहे, चुन लेता है तथा यदि तुम ईमान लाओ और अल्लाह से डरते रहो, तो तुम्हारे लिए बड़ा प्रतिफल है।