Skip to main content

आले इमरान आयत १९३ | Aal-e-Imran 3:193

Our Lord
رَّبَّنَآ
ऐ हमारे रब
indeed we
إِنَّنَا
बेशक हम
[we] heard
سَمِعْنَا
सुना हमने
a caller
مُنَادِيًا
एक पुकारने वाले को
calling
يُنَادِى
वो पुकार रहा था
to the faith
لِلْإِيمَٰنِ
ईमान के लिए
that
أَنْ
कि
"Believe
ءَامِنُوا۟
ईमान ले आओ
in your Lord"
بِرَبِّكُمْ
अपने रब पर
so we have believed
فَـَٔامَنَّاۚ
तो ईमान ले आए हम
Our Lord
رَبَّنَا
ऐ हमारे रब
so forgive
فَٱغْفِرْ
पस बख़्श दे हमारे लिए
for us
لَنَا
पस बख़्श दे हमारे लिए
our sins
ذُنُوبَنَا
हमारे गुनाहों को
and remove
وَكَفِّرْ
और दूर कर दे
from us
عَنَّا
हमसे
our evil deeds
سَيِّـَٔاتِنَا
हमारी बुराइयों को
and cause us to die
وَتَوَفَّنَا
और फ़ौत कर हमें
with
مَعَ
साथ
the righteous
ٱلْأَبْرَارِ
नेक लोगों के

Rabbana innana sami'na munadiyan yunadee lileemani an aminoo birabbikum faamanna rabbana faighfir lana thunoobana wakaffir 'anna sayyiatina watawaffana ma'a alabrari

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

'हमारे रब! हमने एक पुकारनेवाले को ईमान की ओर बुलाते सुना कि अपने रब पर ईमान लाओ। तो हम ईमान ले आए। हमारे रब! तो अब तू हमारे गुनाहों को क्षमा कर दे और हमारी बुराइयों को हमसे दूर कर दे और हमें नेक और वफ़़ादार लोगों के साथ (दुनिया से) उठा

English Sahih:

Our Lord, indeed we have heard a caller [i.e., Prophet Muhammad (^)] calling to faith, [saying], 'Believe in your Lord,' and we have believed. Our Lord, so forgive us our sins and remove from us our misdeeds and cause us to die among the righteous.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ऐ हमारे पालने वाले (जब) हमने एक आवाज़ लगाने वाले (पैग़म्बर) को सुना कि वह (ईमान के वास्ते यूं पुकारता था) कि अपने परवरदिगार पर ईमान लाओ तो हम ईमान लाए पस ऐ हमारे पालने वाले हमें हमारे गुनाह बख्श दे और हमारी बुराईयों को हमसे दूर करे दे और हमें नेकों के साथ (दुनिया से) उठा ले

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

हे हमारे पालनहार! हमने एक[1] पुकारने वाले को ईमान के लिए पुकारते हुए सुना कि अपने पालनहार पर ईमान लाओ, तो हम ईमान ले आये। हे हमारे पालनहार! हमारे पाप क्षमा कर दे तथा हमारी बुराईयों को अनदेखी कर दे तथा हमारी मौत पुनीतों (सदाचारियों) के साथ हो।