Skip to main content

यासीन आयत २० | Yasin 36:20

And came
وَجَآءَ
और आया
from
مِنْ
परले किनारे से
(the) farthest end
أَقْصَا
परले किनारे से
(of) the city
ٱلْمَدِينَةِ
शहर के
a man
رَجُلٌ
एक शख़्स
running
يَسْعَىٰ
दौड़ता हुआ
He said
قَالَ
बोला
"O my People!
يَٰقَوْمِ
ऐ मेरी क़ौम
Follow
ٱتَّبِعُوا۟
पैरवी करो
the Messengers
ٱلْمُرْسَلِينَ
इन रसूलों की

Wajaa min aqsa almadeenati rajulun yas'a qala ya qawmi ittabi'oo almursaleena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

इतने में नगर के दूरवर्ती सिरे से एक व्यक्ति दौड़ता हुआ आया। उसने कहा, 'ऐ मेरी क़ौम के लोगो! उनका अनुवर्तन करो, जो भेजे गए है।

English Sahih:

And there came from the farthest end of the city a man, running. He said, "O my people, follow the messengers.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (इतने में) शहर के उस सिरे से एक शख्स (हबीब नज्जार) दौड़ता हुआ आया और कहने लगा कि ऐ मेरी क़ौम (इन) पैग़म्बरों का कहना मानो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा आया नगर के अन्ति किनारे से, एक पुरुष दौड़ता हुआ। उसने कहाः हे मेरी जाति के लोगो! अनुसरण करो रसूलों का।