Skip to main content

अस-सफ्फात आयत ५३ | As-Saaffat 37:53

Is (it) when
أَءِذَا
क्या जब
we have died
مِتْنَا
मर जाऐंगे हम
and become
وَكُنَّا
और हो जाऐंगे हम
dust
تُرَابًا
मिट्टी
and bones
وَعِظَٰمًا
और हड्डियाँ
will we
أَءِنَّا
क्या बेशक हम
surely be brought to Judgment?"
لَمَدِينُونَ
अलबत्ता बदला दिए जाने वाले हैं

Aitha mitna wakunna turaban wa'ithaman ainna lamadeenoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

क्या जब हम मर चुके होंगे और मिट्टी और हड्डियाँ होकर रह जाएँगे, तो क्या हम वास्तव में बदला पाएँगे?'

English Sahih:

That when we have died and become dust and bones, we will indeed be recompensed?'"

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(भला जब हम मर जाएँगे) और (सड़ गल कर) मिट्टी और हव्ी (होकर) रह जाएँगे तो क्या हमको दोबारा ज़िन्दा करके हमारे (आमाल का) बदला दिया जाएगा

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

क्या जब हम, मर जायेंगे तथा मिट्टी और अस्थियाँ हो जायेंगे, तो क्या हमें (कर्मों) का प्रतिफल दिया जायेगा?