Skip to main content

अत-तूर आयत ४९ | At-Tur 52:49

And of
وَمِنَ
और रात को
the night
ٱلَّيْلِ
और रात को
glorify Him
فَسَبِّحْهُ
पस तस्बीह कीजिए उसकी
and after
وَإِدْبَٰرَ
और पलटने के बाद
the stars
ٱلنُّجُومِ
सितारों के

Wamina allayli fasabbihhu waidbara alnnujoomi

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

रात की कुछ घड़ियों में भी उसकी तसबीह करो, और सितारों के पीठ फेरने के समय (प्रातःकाल) भी

English Sahih:

And in a part of the night exalt Him and after [the setting of] the stars.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और कुछ रात को भी और सितारों के ग़ुरूब होने के बाद तस्बीह किया करो

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा रात्री में (भी) उसकी पवित्रता का वर्णन करें और तारों के डूबने के[1] पश्चात् (भी)।