Skip to main content
bismillah
وَٱلطُّورِ
क़सम है तूर की

Waalttoori

गवाह है तूर पर्वत,

Tafseer (तफ़सीर )
وَكِتَٰبٍ
और किताब
مَّسْطُورٍ
लिखी हुई की

Wakitabin mastoorin

और लिखी हुई किताब;

Tafseer (तफ़सीर )
فِى
वर्क़ में
رَقٍّ
वर्क़ में
مَّنشُورٍ
खुले हुए

Fee raqqin manshoorin

फैले हुए झिल्ली के पन्ने में

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلْبَيْتِ
और घर की
ٱلْمَعْمُورِ
जो आबाद है

Waalbayti alma'moori

और बसा हुआ घर;

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلسَّقْفِ
और छत की
ٱلْمَرْفُوعِ
जो ऊँची उठाई गई है

Waalssaqfi almarfoo'i

और ऊँची छत;

Tafseer (तफ़सीर )
وَٱلْبَحْرِ
और समुन्दर की
ٱلْمَسْجُورِ
भड़काया हुआ है

Waalbahri almasjoori

और उफनता समुद्र

Tafseer (तफ़सीर )
إِنَّ
बेशक
عَذَابَ
अज़ाब
رَبِّكَ
आपके रब का
لَوَٰقِعٌ
यक़ीनन वाक़ेअ होने वाला है

Inna 'athaba rabbika lawaqi'un

कि तेरे रब की यातना अवश्य घटित होकर रहेगी;

Tafseer (तफ़सीर )
مَّا
नहीं
لَهُۥ
उसे
مِن
कोई
دَافِعٍ
कोई दूर करने वाला

Ma lahu min dafi'in

जिसे टालनेवाला कोई नहीं;

Tafseer (तफ़सीर )
يَوْمَ
जिस दिन
تَمُورُ
लरज़ेगा
ٱلسَّمَآءُ
आसमान
مَوْرًا
सख़्त लरज़ना

Yawma tamooru alssamao mawran

जिस दिल आकाश बुरी तरह डगमगाएगा;

Tafseer (तफ़सीर )
وَتَسِيرُ
और चलेंगे
ٱلْجِبَالُ
पहाड़
سَيْرًا
बहुत चलना

Wataseeru aljibalu sayran

और पहाड़ चलते-फिरते होंगे;

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अत-तूर
القرآن الكريم:الطور
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):At-Tur
सूरा:52
कुल आयत:49
कुल शब्द:320
कुल वर्ण:1500
रुकु:2
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:76
से शुरू आयत:4735