Skip to main content

अल-कियामा आयत ३१ | Al-Qiyamah 75:31

And not
فَلَا
पस ना
he accepted (the) truth
صَدَّقَ
उसने तस्दीक़ की
and not
وَلَا
और ना
he prayed
صَلَّىٰ
उसने नमाज़ पढ़ी

Fala saddaqa wala salla

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

किन्तु उसने न तो सत्य माना और न नमाज़ अदा की,

English Sahih:

And he [i.e., the disbeliever] had not believed, nor had he prayed.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

तो उसने (ग़फलत में) न (कलामे ख़ुदा की) तसदीक़ की न नमाज़ पढ़ी

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तो न उसने सत्य को माना और न नमाज़ पढ़ी।