Skip to main content

अल-इन्सान आयत ४ | Al-Insan 76:4

Indeed We
إِنَّآ
बेशक हम
[We] have prepared
أَعْتَدْنَا
तैयार कर रखा है हमने
for the disbelievers
لِلْكَٰفِرِينَ
काफ़िरों के लिए
chains
سَلَٰسِلَا۟
ज़नजीरों को
and shackles
وَأَغْلَٰلًا
और तौक़ को
and a Blazing Fire
وَسَعِيرًا
और भड़कती आग को

Inna a'tadna lilkafireena salasila waaghlalan wasa'eeran

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

हमने इनकार करनेवालों के लिए ज़जीरें और तौक़ और भड़कती हुई आग तैयार कर रखी है

English Sahih:

Indeed, We have prepared for the disbelievers chains and shackles and a blaze.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

हमने काफ़िरों के ज़ंजीरे, तौक और दहकती हुई आग तैयार कर रखी है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

निःसंदेह, हमने तैयार की काफ़िरों (कृतघ्नों) के लिए ज़ंजीर तथा तौक़ और दहकती अग्नि।