Skip to main content

अल-इन्शिकाक आयत २५ | Al-Inshiqaq 84:25

Except
إِلَّا
सिवाए
those who
ٱلَّذِينَ
उन लोगों के जो
believe
ءَامَنُوا۟
ईमान लाए
and do
وَعَمِلُوا۟
और उन्होंने अमल किए
righteous deeds
ٱلصَّٰلِحَٰتِ
नेक
For them
لَهُمْ
उनके लिए
(is) a reward
أَجْرٌ
अजर है
never
غَيْرُ
ना
ending
مَمْنُونٍۭ
ख़त्म होने वाला

Illa allatheena amanoo wa'amiloo alssalihati lahum ajrun ghayru mamnoonin

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अलबत्ता जो लोग ईमान लाए और उन्होंने अच्छे कर्म किए उनके लिए कभी न समाप्त॥ होनेवाला प्रतिदान है

English Sahih:

Except for those who believe and do righteous deeds. For them is a reward uninterrupted.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

मगर जो लोग ईमान लाए और उन्होंने अच्छे अच्छे काम किए उनके लिए बेइन्तिहा अज्र (व सवाब है)

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

परन्तु, जो ईमान लाये तथा सदाचार किये, उनके लिए समाप्त न होने वाला बदला है।[1]