Skip to main content

अन नहल आयत ७० | An-Nahl 16:70

And Allah
وَٱللَّهُ
और अल्लाह ने
created you
خَلَقَكُمْ
पैदा किया तुम्हें
then
ثُمَّ
फिर
will cause you to die
يَتَوَفَّىٰكُمْۚ
वो फ़ौत करता है तुम्हें
And among you
وَمِنكُم
और तुम में से
(is one) who
مَّن
कोई
is sent back
يُرَدُّ
फेरा जाता है
to
إِلَىٰٓ
तरफ़
the worst
أَرْذَلِ
नाकारा उमर के
(of) the age
ٱلْعُمُرِ
नाकारा उमर के
so that
لِكَىْ
ताकि
not
لَا
ना वो जाने
he will know
يَعْلَمَ
ना वो जाने
after
بَعْدَ
बाद
knowledge
عِلْمٍ
जानने के
a thing
شَيْـًٔاۚ
कुछ भी
Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
(is) All-Knowing
عَلِيمٌ
बहुत इल्म वाला है
All-Powerful
قَدِيرٌ
ख़ूब क़ुदरत वाला है

WaAllahu khalaqakum thumma yatawaffakum waminkum man yuraddu ila arthali al'umuri likay la ya'lama ba'da 'ilmin shayan inna Allaha 'aleemun qadeerun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अल्लाह ने तुम्हें पैदा किया। फिर वह तुम्हारी आत्माओं को ग्रस्त कर लेता है और तुममें से कोई (बुढापे की) निकृष्ट तम अवस्था की ओर फिर जाता है, कि (परिणामस्वरूप) जानने के पश्चात फिर वह कुछ न जाने। निस्संदेह अल्लाह सर्वज्ञ, बड़ा सामर्थ्यवान है

English Sahih:

And Allah created you; then He will take you in death. And among you is he who is reversed to the most decrepit [old] age so that he will not know, after [having had] knowledge, a thing. Indeed, Allah is Knowing and Competent.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और ख़ुदा ही ने तुमको पैदा किया फिर वही तुमको (दुनिया से) उठा लेगा और तुममें से बाज़ ऐसे भी हैं जो ज़लील ज़िन्दगी (सख्त बुढ़ापे) की तरफ लौटाए जाते हैं (बहुत कुछ) जानने के बाद (ऐसे सड़ीले हो गए कि) कुछ नहीं जान सके बेशक ख़ुदा (सब कुछ) जानता और (हर तरह की) कुदरत रखता है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

और अल्लाह ही ने तुम्हारी उत्पत्ति की है, फिर तुम्हें मौत देता है और तुममें से कुछको अबोध आयु तक पहुँचा दिया जाता है, ताकि जानने के पश्चात् कुछ न जाने। वास्तव में, अल्लाह सर्वज्ञ, सर्व सामर्थ्यवान्[1] है।