Skip to main content

मरियम आयत ५४ | Mariyam 19:54

And mention
وَٱذْكُرْ
और ज़िक्र कीजिए
in
فِى
किताब में
the Book
ٱلْكِتَٰبِ
किताब में
Ismail
إِسْمَٰعِيلَۚ
इस्माईल का
Indeed he
إِنَّهُۥ
बेशक वो
was
كَانَ
था वो
true
صَادِقَ
सच्चा
(to his) promise
ٱلْوَعْدِ
वादे का
and was
وَكَانَ
और था वो
a Messenger -
رَسُولًا
एक रसूल
a Prophet
نَّبِيًّا
नबी

Waothkur fee alkitabi isma'eela innahu kana sadiqa alwa'di wakana rasoolan nabiyyan

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और इस किताब में इसमाईल की चर्चा करो। निस्संदेह वह वादे का सच्च, नबी था

English Sahih:

And mention in the Book, Ishmael. Indeed, he was true to his promise, and he was a messenger and a prophet.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

(ऐ रसूल) कुरान में इसमाईल का (भी) तज़किरा करो इसमें शक नहीं कि वह वायदे के सच्चे थे और भेजे हुए पैग़म्बर थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा इस पुस्तक में इस्माईल[1] की चर्चा करो, वास्तव में, वह वचन का पक्का तथा रसूल-नबी था।