Skip to main content

अन-नूर आयत ३४ | An-Noor 24:34

And verily
وَلَقَدْ
और अलबत्ता तहक़ीक़
We have sent down
أَنزَلْنَآ
नाज़िल कीं हमने
to you
إِلَيْكُمْ
तरफ़ तुम्हारे
Verses
ءَايَٰتٍ
आयात
clear
مُّبَيِّنَٰتٍ
वाज़ेह
and an example
وَمَثَلًا
और मिसाल
of
مِّنَ
उन लोगों की जो
those who
ٱلَّذِينَ
उन लोगों की जो
passed away
خَلَوْا۟
गुज़र चुके
before you
مِن
तुम से पहले
before you
قَبْلِكُمْ
तुम से पहले
and an admonition
وَمَوْعِظَةً
और नसीहत
for those who fear (Allah)
لِّلْمُتَّقِينَ
मुत्तक़ी लोगों के लिए

Walaqad anzalna ilaykum ayatin mubayyinatin wamathalan mina allatheena khalaw min qablikum wamaw'ithatan lilmuttaqeena

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

हमने तुम्हारी ओर खुली हुई आयतें उतार दी है और उन लोगों की मिशालें भी पेश कर दी हैं, जो तुमसे पहले गुज़रे है, और डर रखनेवालों के लिए नसीहत भी

English Sahih:

And We have certainly sent down to you distinct verses and examples from those who passed on before you and an admonition for those who fear Allah.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और (ईमानदारों) हमने तो तुम्हारे पास (अपनी) वाज़ेए व रौशन आयतें और जो लोग तुमसे पहले गुज़र चुके हैं उनकी हालतें और परहेज़गारों के लिए नसीहत (की बाते) नाज़िल की

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा हमने तुम्हारी ओर खुली आयतें उतारी हैं और उनका उदाहरण, जो तुमसे पहले गुज़र गये तथा आज्ञाकारियों के लिए शिक्षा।