Skip to main content

अल-क़सस आयत ६ | Al-Qasas 28:6

And [We] establish
وَنُمَكِّنَ
और हम इक़तिदार बख़्शें
them
لَهُمْ
उन्हें
in
فِى
ज़मीन में
the land
ٱلْأَرْضِ
ज़मीन में
and show
وَنُرِىَ
और हम दिखा दें
Firaun
فِرْعَوْنَ
फ़िरऔन को
and Haman
وَهَٰمَٰنَ
और हामान को
and their hosts
وَجُنُودَهُمَا
और उन दोनों के लश्करों को
through them
مِنْهُم
उनसे
what
مَّا
(वो चीज़) जिससे
they were
كَانُوا۟
थे वो
fearing
يَحْذَرُونَ
वो डरते

Wanumakkina lahum fee alardi wanuriya fir'awna wahamana wajunoodahuma minhum ma kanoo yahtharoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

और धरती में उन्हें सत्ताधिकार प्रदान करें और उनकी ओर से फ़िरऔन और हामान और उनकी सेनाओं को वह कुछ दिखाएँ, जिसकी उन्हें आशंका थी

English Sahih:

And establish them in the land and show Pharaoh and [his minister] Haman and their soldiers through them that which they had feared.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

और उन्हीं को रुए ज़मीन पर पूरी क़ुदरत अता करे और फिरऔन और हामान और उन दोनों के लश्करो को उन्हीं कमज़ोरों के हाथ से वह चीज़ें दिखायें जिससे ये लोग डरते थे

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

तथा उन्हें शक्ति प्रदान कर दें और दिखा दें फ़िरऔन तथा हामान और उनकी सेनाओं को उनकी ओर से वह, जिससे वे डर रहे[1] थे।