Skip to main content

अर-रहमान आयत १७ | Ar-Rahman 55:17

Lord
رَبُّ
रब है
(of) the two Easts
ٱلْمَشْرِقَيْنِ
दो मशरिक़ों का
and Lord
وَرَبُّ
और रब है
(of) the two Wests
ٱلْمَغْرِبَيْنِ
दो मग़रिबों का

Rabbu almashriqayni warabbu almaghribayni

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

वह दो पूर्व का रब है और दो पश्चिम का रब भी।

English Sahih:

[He is] Lord of the two sunrises and Lord of the two sunsets.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

वही जाड़े गर्मी के दोनों मशरिकों का मालिक है और दोनों मग़रिबों का (भी) मालिक है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

वह दोनों सूर्योदय[1] के स्थानों तथा दोनों सूर्यास्त के स्थानों का स्वामी है।