Skip to main content

अस-सफ्फ आयत ४ | As-Saf 61:4

Indeed
إِنَّ
बेशक
Allah
ٱللَّهَ
अल्लाह
loves
يُحِبُّ
वो मुहब्बत रखता है
those who
ٱلَّذِينَ
उन लोगों से जो
fight
يُقَٰتِلُونَ
जंग करते हैं
in
فِى
उसके रास्ते में
His Way
سَبِيلِهِۦ
उसके रास्ते में
(in) a row
صَفًّا
सफ़ बना कर
as if they
كَأَنَّهُم
गोया कि वो
(were) a structure
بُنْيَٰنٌ
दीवार हैं
joined firmly
مَّرْصُوصٌ
सीसा पिलाई हुई

Inna Allaha yuhibbu allatheena yuqatiloona fee sabeelihi saffan kaannahum bunyanun marsoosun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अल्लाह तो उन लोगों से प्रेम रखता है जो उसके मार्ग में पंक्तिबद्ध होकर लड़ते है मानो वे सीसा पिलाई हुए दीवार है

English Sahih:

Indeed, Allah loves those who fight in His cause in a row as though they are a [single] structure joined firmly.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ख़ुदा तो उन लोगों से उलफ़त रखता है जो उसकी राह में इस तरह परा बाँध के लड़ते हैं कि गोया वह सीसा पिलाई हुई दीवारें हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

निःसंदेह अल्लाह प्रेम करता है उनसे, जो युध्द करते हैं उसकी राह में पंक्तिबंद होकर, जैसे कि वह सीसा पिलाई दीवार हों।