Skip to main content

अस-सफ्फ आयत ३ | As-Saf 61:3

Great is
كَبُرَ
बड़ी है
hatred
مَقْتًا
नाराज़गी
with
عِندَ
अल्लाह के नज़दीक
Allah
ٱللَّهِ
अल्लाह के नज़दीक
that
أَن
कि
you say
تَقُولُوا۟
तुम कहो
what
مَا
वो जो
not?
لَا
नहीं तुम करते
you do?
تَفْعَلُونَ
नहीं तुम करते

Kabura maqtan 'inda Allahi an taqooloo ma la taf'aloona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

अल्लाह के यहाँ यह अत्यन्त अप्रिय बात है कि तुम वह बात कहो, जो करो नहीं

English Sahih:

Greatly hateful in the sight of Allah is that you say what you do not do.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

ख़ुदा के नज़दीक ये ग़ज़ब की बात है कि तुम ऐसी बात कहो जो करो नहीं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

अत्यंत अप्रिय है अल्लाह को तुम्हारी वह बात कहना, जिसे तुम (स्वयं) करते नहीं।