Skip to main content

अन नहल आयत १०० | An-Nahl 16:100

Only
إِنَّمَا
बेशक
his authority
سُلْطَٰنُهُۥ
ज़ोर उसका
(is) over
عَلَى
उन लोगों पर है जो
those who
ٱلَّذِينَ
उन लोगों पर है जो
take him as an ally
يَتَوَلَّوْنَهُۥ
दोस्त बनाते हैं उसे
and those who
وَٱلَّذِينَ
और (उन पर) जो
[they]
هُم
वो
with Him
بِهِۦ
उसकी वजह से
associate partners
مُشْرِكُونَ
शिर्क करने वाले हैं

Innama sultanuhu 'ala allatheena yatawallawnahu waallatheena hum bihi mushrikoona

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

उसका ज़ोर तो बस उन्हीं लोगों पर चलता है जो उसे अपना मित्र बनाते है और उस (अल्लाह) के साथ साझी ठहराते है

English Sahih:

His authority is only over those who take him as an ally and those who through him associate others with Allah.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

उसका क़ाबू चलता है तो बस उन्हीं लोगों पर जो उसको दोस्त बनाते हैं और जो लोग उसको ख़ुदा का शरीक बनाते हैं

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

उसका वश तो केवल उनपर चलता है, जो उसे अपना संरक्षक बनाते हैं और जो मिश्रणवादी (मुश्रिक) हैं।