Skip to main content

आले इमरान आयत ३४ | Aal-e-Imran 3:34

Descendents
ذُرِّيَّةًۢ
औलाद हैं
some of them
بَعْضُهَا
बाज़ उनके
from
مِنۢ
बाज़ की
others
بَعْضٍۗ
बाज़ की
And Allah
وَٱللَّهُ
और अल्लाह
(is) All-Hearing
سَمِيعٌ
ख़ूब सुनने वाला है
All-Knowing
عَلِيمٌ
ख़ूब जानने वाला है

Thurriyyatan ba'duha min ba'din waAllahu samee'un 'aleemun

Muhammad Faruq Khan Sultanpuri & Muhammad Ahmed:

एक नस्त के रूप में, उसमें से एक पीढ़ी, दूसरी पीढ़ी से पैदा हुई। अल्लाह सब कुछ सुनता, जानता है

English Sahih:

Descendants, some of them from others. And Allah is Hearing and Knowing.

1 | Suhel Farooq Khan/Saifur Rahman Nadwi

बाज़ की औलाद को बाज़ से और ख़ुदा (सबकी) सुनता (और सब कुछ) जानता है

2 | Azizul-Haqq Al-Umary

ये एक-दूसरे की संतान हैं और अल्लाह सब सुनता और जानता है।