Skip to main content
bismillah
قُلْ
कह दीजिए
أَعُوذُ
मैं पनाह लेता हूँ
بِرَبِّ
रब की
ٱلنَّاسِ
इन्सानों के

Qul a'oothu birabbi alnnasi

कहो, 'मैं शरण लेता हूँ मनुष्यों के रब की

Tafseer (तफ़सीर )
مَلِكِ
बादशाह की
ٱلنَّاسِ
इन्सानों के

Maliki alnnasi

मनुष्यों के सम्राट की

Tafseer (तफ़सीर )
إِلَٰهِ
इलाह की
ٱلنَّاسِ
इन्सानों के

Ilahi alnnasi

मनुष्यों के उपास्य की

Tafseer (तफ़सीर )
مِن
शर से
شَرِّ
शर से
ٱلْوَسْوَاسِ
वसवसा डालने वाले के
ٱلْخَنَّاسِ
बार-बार पलट कर आने वाले के

Min sharri alwaswasi alkhannasi

वसवसा डालनेवाले, खिसक जानेवाले की बुराई से

Tafseer (तफ़सीर )
ٱلَّذِى
वो जो
يُوَسْوِسُ
वसवसा डालता है
فِى
सीनों में
صُدُورِ
सीनों में
ٱلنَّاسِ
लोगों के

Allathee yuwaswisu fee sudoori alnnasi

जो मनुष्यों के सीनों में वसवसा डालता हैं

Tafseer (तफ़सीर )
مِنَ
जिन्नों में से
ٱلْجِنَّةِ
जिन्नों में से
وَٱلنَّاسِ
और इन्सानों में से

Mina aljinnati wa alnnasm

जो जिन्नों में से भी होता हैं और मनुष्यों में से भी

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अन-नास
القرآن الكريم:الناس
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):An-Nas
सूरा:114
कुल आयत:6
कुल शब्द:20
कुल वर्ण:79
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:21
से शुरू आयत:6230