Skip to main content
bismillah
قُلْ
कह दीजिए
هُوَ
वो
ٱللَّهُ
अल्लाह
أَحَدٌ
एक है

Qul huwa Allahu ahadun

कहो, 'वह अल्लाह यकता है,

Tafseer (तफ़सीर )
ٱللَّهُ
अल्लाह
ٱلصَّمَدُ
बेनियाज़ है

Allahu alssamadu

अल्लाह निरपेक्ष (और सर्वाधार) है,

Tafseer (तफ़सीर )
لَمْ
ना
يَلِدْ
उसने जना
وَلَمْ
और ना
يُولَدْ
वो जना गया

Lam yalid walam yooladu

न वह जनिता है और न जन्य,

Tafseer (तफ़सीर )
وَلَمْ
और नहीं है
يَكُن
है
لَّهُۥ
उसके लिए
كُفُوًا
बराबर का
أَحَدٌۢ
कोई एक भी

Walam yakun lahu kufuwan ahadun

और न कोई उसका समकक्ष है।'

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-इख़लास
القرآن الكريم:الإخلاص
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Al-Ikhlas
सूरा:112
कुल आयत:4
कुल शब्द:15
कुल वर्ण:48
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:22
से शुरू आयत:6221