Skip to main content
bismillah
أَلَمْ
क्या नहीं
تَرَ
आपने देखा
كَيْفَ
किस तरह
فَعَلَ
किया
رَبُّكَ
आपके रब ने
بِأَصْحَٰبِ
हाथी वालों के साथ
ٱلْفِيلِ
हाथी वालों के साथ

Alam tara kayfa fa'ala rabbuka biashabi alfeeli

क्या तुमने देखा नहीं कि तुम्हारे रब ने हाथीवालों के साथ कैसा बरताव किया?

Tafseer (तफ़सीर )
أَلَمْ
क्या नहीं
يَجْعَلْ
उसने कर दिया था
كَيْدَهُمْ
उनकी चाल को
فِى
बेकार/ अकारत
تَضْلِيلٍ
बेकार/ अकारत

Alam yaj'al kaydahum fee tadleelin

क्या उसने उनकी चाल को अकारथ नहीं कर दिया?

Tafseer (तफ़सीर )
وَأَرْسَلَ
और उसने भेजे
عَلَيْهِمْ
उन पर
طَيْرًا
परिन्दे
أَبَابِيلَ
झुंड के झुंड

Waarsala 'alayhim tayran ababeela

और उनपर नियुक्त होने को झुंड के झुंड पक्षी भेजे,

Tafseer (तफ़सीर )
تَرْمِيهِم
जो फेंकते थे उन पर
بِحِجَارَةٍ
पत्थर
مِّن
कंकर की (क़िस्म ) के
سِجِّيلٍ
कंकर की (क़िस्म ) के

Tarmeehim bihijaratin min sijjeelin

उनपर कंकरीले पत्थर मार रहे थे

Tafseer (तफ़सीर )
فَجَعَلَهُمْ
तो उसने कर दिया उन्हें
كَعَصْفٍ
भूसे की तरह
مَّأْكُولٍۭ
खाए हुए

Faja'alahum ka'asfin makoolin

अन्ततः उन्हें ऐसा कर दिया, जैसे खाने का भूसा हो

Tafseer (तफ़सीर )
कुरान की जानकारी :
अल-फ़ील
القرآن الكريم:الفيل
आयत सजदा (سجدة):-
सूरा (latin):Al-Fil
सूरा:105
कुल आयत:5
कुल शब्द:20
कुल वर्ण:96
रुकु:1
वर्गीकरण:मक्कन सूरा
Revelation Order:19
से शुरू आयत:6188